Wednesday, August 15, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

टिहरी के स्वास्थ्य विभाग में भर्ती में हुआ गड़बड़झाला, छात्रों ने की जांच की मांग

अंग्वाल न्यूज डेस्क
टिहरी के स्वास्थ्य विभाग में भर्ती में हुआ गड़बड़झाला, छात्रों ने की जांच की मांग

देहरादून। उत्तराखंड में एक के बाद एक घोटाला सामने आ रहा है। अब टिहरी में सीनियर ट्रीटमेंट सुपरवाइजरों की भर्ती मामले में गड़बड़झाले का पता चला है। स्वास्थ्य विभाग ने चयन समिति के अभिलेखों में पैन से कटिंग की बात स्वीकार कर ली। यही नहीं, इस पर किसी अधिकारी के हस्ताक्षर तक नहीं हैं। बता दें कि टिहरी के स्वास्थ्य विभाग में बिना योग्यता के ही भर्ती करने का आरोप है।

दस्तावेजों में छेड़छाड़

गौरतलब है कि राष्ट्रीय क्षय रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत पिछले साल अगस्त माह में स्वास्थ्य विभाग ने 4 पदों पर भर्ती निकाली थी। परीक्षा के बाद 31 सितंबर को जब इसका परिणाम आया तो इससे नाराज होकर मनीष सिंह और पवन चंद रमोला ने डीएम से भर्ती में गड़बड़ी की शिकायत कर दी। इसके साथ ही उन्होंने समाधान पोर्टल पर भी शिकायत दर्ज कराई थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि पद के लिए मांगी गई योग्यता न होने के बावजूद कुछ लोगों को नियुक्तियां दे दी गईं। उन्होंने चयन समिति के दस्तावेजों में पैन से छेड़छाड़ का आरोप भी लगाया है।

ये भी पढ़ें -पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी ने लोगों की मुसीबतें बढ़ाईं, आने वाले 24 घंटे रहेंगे भारी


जांच की मांग

आपको बता दें कि अब सीएमओ दफ्तर ने समाधान पोर्टल पर दस्तावेजों में पैन से कटिंग की बात स्वीकारी है। ऐसे में अभ्यर्थियों ने डीएम से इस मामले की जांच की मांग की है। वहीं टिहरी की डीएम सोनिका का कहना है कि विभाग से लिखित जवाब मिलने के बाद इसे जांच में शामिल किया जाएगा। 

 

Todays Beets: