Wednesday, January 23, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

टिहरी में भारी बारिश के बाद हुए भूस्खलन से बनी 50 फीट लंबी कृत्रिम झील, लोगों में दहशत का माहौल

अंग्वाल न्यूज डेस्क
टिहरी में भारी बारिश के बाद हुए भूस्खलन से बनी 50 फीट लंबी कृत्रिम झील, लोगों में दहशत का माहौल

देहरादून। उत्तराखंड के कई इलाकों में भारी बारिश का सिलसिला जारी है। टिहरी जिले में बारिश के बाद हो रहे भूस्खलन ने लोगों की मुसीबतों को और बढ़ा दिया है। पहाड़ों से मिट्टी पानी की तरह बह रहा है। इससे यहां करीब 50 फीट लंबी और 100 फीट गहरी कृत्रिम झील का निर्माण हो गया है। इस झील में पानी भरने से लोगों में दहशत का माहौल पैदा हो गया है। बता दें कि मौसम विभाग पहले ही 1 सितंबर से 3 सितंबर तक राज्य में भारी बारिश की चेतावनी जारी कर चुका है।

गौरतलब है कि प्रदेश के ज्यादातर सभी हिस्सों में इन दिनों भारी बारिश हो रही है और सभी छोटी-बड़ी नदियां अपने पूरे उफान पर हैं। हल्द्वानी की सड़कांे पर भी पानी के तेज बहाव का नजारा दिखाई दे रहा है। लोग सुरक्षा की परवाह किए बगैर जान जोखिम में डालकर सड़कों को पार कर रहे हैं। लगातार हो रही तेज बारिश की वजह से टनकपुर-पिथौरागढ़ मार्ग भी बंद हो गया है। 

ये भी पढ़ें - पहाड़ में राजनीति भविष्य तलाश रहे अखिलेश ने भाजपा पर बोला हमला, सांप्रदायिक सद्भाव के लिए खतरा बताया


यहां बता दें कि टिहरी जिले में पहाड़ों से मलबे की शक्ल में पानी बह रहा है। पहाड़ों से हो रहे भूस्खलन के चलते यहां करीब 50 फीट लंबी और 100 फीट गहरी कृत्रिम झील का निर्माण हो गया है जिससे लोगों में खौफ का माहौल है।  प्रशासन की ओर से लोगों को सावधान रहने की सलाह दी गई है। यहां आपको बता दें कि मौसम विभाग पहले ही 1 से 3 सितंबर तक राज्य में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। खासकर कोटद्वार इलाके में भीषण बारिश होने की विशेष चेतावनी दी है। 

Todays Beets: