Tuesday, October 16, 2018

Breaking News

   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||   सुप्रीम कोर्ट ने कठुआ मामले में सीबीआई जांच की अर्जी को खारिज किया    ||   मध्यप्रदेश सरकार ने पांच नए सूचना आयुक्त चुने, राज्यपाल को भेजी सिफारिश     ||   बिहार: ASI संग शराब बेच रहा था थानेदार, अरेस्ट     ||

गंगा को प्रदूषित करने वालों पर हाईकोर्ट सख्त, 65 नालों को फौरन बंद करने के निर्देश

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गंगा को प्रदूषित करने वालों पर हाईकोर्ट सख्त, 65 नालों को फौरन बंद करने के निर्देश

नैनीताल। उत्तराखंड में गंगा नदी में हो रहे प्रदूषण को लेकर हाईकोर्ट सख्त निर्देश दिए हैं। कोर्ट ने इस मामले में स्वतः संज्ञान लेते हुए कहा कि बिना ट्रीटमेंट के गंगा में गिरने वाले 65 नालों को फौरन बंद किया जाए या फिर उसका रुख मोड़ा जाए। इस मामले पर सुनवाई करते हुए कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश राजीव शर्मा और न्यायाधीश मनोज कुमार तिवारी की पीठ ने हरिद्वार के 72 घाटों की सफाई के लिए निविदा प्रक्रिया को 21 दिनों के अंदर पूरा करने का आदेश दिया है। हाईकोर्ट ने ऋषिकेश, मुनिकीरेती, कीर्तिनगर, श्रीकोट, गंगनाली, रुद्रप्रयाग, कर्णप्रयाग, नंदप्रयाग, जोशीमठ, बद्रीनाथ और उत्तरकाशी के नालों का उपचार तय समय में करने का निर्देश दिया है। 

गौरतलब है कि हाईकोर्ट के आदेश के बाद प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (पीसीबी) ने सख्ती दिखाते हुए सभी आश्रमों और रेस्टोरेंट को सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाने के  निर्देश दिए थे। बता दें कि कोर्ट ने कहा कि इस कार्य को  मार्च 2019 तक को पूरा कर लिया जाए। कोर्ट ने सभी जिलों के जिलाधिकारियों को इन आदेशों के पालन की जिम्मेदारी दी है और राज्य के पेयजल सचिव को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। 


ये भी पढ़ें - उत्तराखंड में चुनाव से पहले कांग्रेस का बड़ा दांव, इस नए चेहरे को किया पार्टी में शामिल

यहां बता दें कि पेयजल सचिव ने कोर्ट में शपथ पत्र पेश करते हुए कहा कि गंगा के उद्गम स्थल से लेकर हरिद्वार तक इसके आसपास कई छोटे कस्बे हैं। इन जगहों के पानी भी प्रदूषित पाया गया है। गंगा और उसकी सहायक नदियों में गिरने वाले 135 नालों में से 70 नालों का बहाव गंगा एक्शन प्लान फेज एक और दो के तहत रोका जा चुका है।

Todays Beets: