Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

एनसीईआरटी किताबों को लेकर स्कूलों की मनमानी के खिलाफ कंट्रोल रूम को मिली सैकड़ों शिकायतें, जांच के बाद होगी कार्रवाई

अंग्वाल न्यूज डेस्क
एनसीईआरटी किताबों को लेकर स्कूलों की मनमानी के खिलाफ कंट्रोल रूम को मिली सैकड़ों शिकायतें, जांच के बाद होगी कार्रवाई

देहरादून। राज्य में एनसीईआरटी किताबों के लागू होने के बाद अभिभावकों पर निजी प्रकाशकों और स्कूलों के द्वारा दवाब बनाने का सिलसिला जारी है। इससे निपटने के लिए मुख्यमंत्री कार्यालय ने संज्ञान लेते हुए कंट्रोल रूम की स्थापना की थी। बता दें कि इस कंट्रोल रूम में एक दिन में सैकड़ों अभिभावकों की शिकायतें दर्ज की गई हैं। अब इन सब की जांच करने के बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़ें - उपनल नौकरी विवाद के बाद अटकी 117 भर्तियां, परियोजनाओं का समय पर पूरा होना मुश्किल


गौरतलब है कि प्रदेश में नए सत्र से एनसीईआरटी की किताबें लागू कर दी गई हैं। सरकार के इस फैसले का निजी स्कूल संचालकों ने काफी विरोध किया लेकिन सरकार ने अपनी बात स्पष्ट कर दी थी कि किताबों को लागू करने का फैसला वापस नहीं लिया जाएगा। सरकार के फैसले को लेकर स्कूल संचालक कोर्ट में चले गए थे।  किताबों को लेकर निजी स्कूलों या प्रकाशकों के द्वारा अभिभावकों पर दवाब बनाने की शिकायतें सोशल मीडिया पर मिलने के बाद मुख्यमंत्री कार्यालय ने कंट्रोल रूम की स्थापना की थी। इसके पहले दिन देहरादून से सबसे अधिक 44, जबकि प्रदेशभर के पांच जिलों से 136 शिकायतें आईं। हरिद्वार से 40, ऊधमसिंह नगर से 30, उत्तरकाशी से 12, चमोली से 6 और कोटद्वार से 4 शिकायतें आईं हैं।  मुख्य शिक्षा अधिकारी एसबी जोशी ने बताया कि कंट्रोल रूम में ईमेल के जरिए आई शिकायतों पर भी स्कूल की जांच की जाएगी। 

Todays Beets: