Friday, December 15, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

दूरस्थ इलाके में स्वास्थ्य सेवाएं होंगी बेहतर, सरकार ने ‘एचपी’ के साथ किया करार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दूरस्थ इलाके में स्वास्थ्य सेवाएं होंगी बेहतर, सरकार ने ‘एचपी’ के साथ किया करार

देहरादून। राज्य के दूर-दराज इलाकों में स्वास्थ्य व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए सरकार की तरफ से एक और कदम उठाया गया है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की मौजूदगी में इसके लिए देश की प्रमुख आईटी कंपनी व्हेलेट पेकर्ड यानी एचपी के साथ करार किया गया है। इसके तहत एचटी कंपनी उत्तराखंड के दूरस्थ इलाकों में टेली मेडिसन सुविधा उपलब्ध कराएगी जिससे पहाड़ी क्षेत्रों को फायदा पहुंचेगा। सरकार और एचपी कंपनी के साथ हुए एमओयू के तहत उत्तराखंड के 4 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर टेली मेडिसन पहुंचाने के लिए ई-हेल्थ सेंटर शुरू होगा। 

जांच रिपोर्ट के साथ स्टाफ को ट्रेनिंग

गौरतलब है कि इन ई-सेंटरों के जरिए चारों सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर करीब 65 तरह की जांच की रिपोर्ट फौरन अपलोड कर दी जाएगी। इसके साथ ही कंपनी पैथोलॉजी और आईटी उपकरण भी मुहैया कराएगी। सभी स्वास्थ्य केंद्रों में एक-एक मेडिकल स्टूडियो भी स्थापित किया जाएगा और यहां विशेषज्ञ डॉक्टर मौजूद रहेंगे। कंपनी इन अस्पतालों में तैनात डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ को ट्रेनिंग भी देगी, जो इलेक्ट्रॉनिक मेडिकल रिकॉर्ड का रख-रखाव और उपकरणों का संचालन कर सकेंगे। 

ये भी पढ़ें - अब राज्य में होमगार्ड बतौर ट्रेडमैन भर्ती होंगे- त्रिवेन्द्र सिंह रावत


स्वास्थ्य व्यवस्था होगी बेहतर

आपको बता दें कि यहां नर्स और स्टाफ की तैनाती और हाई स्पीड ब्रॉडबैंड सुविधा सरकार उपलब्ध कराएगी। वीर चंद्र सिंह गढ़वाली श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में स्टूडियो बनाया जाएगा। इस सुविधा के शुरू होने से राज्य में स्वास्थ्य व्यवस्था और बेहतर बनाने में मदद मिलेगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य के 12 अस्पतालों में टेली रेडियोलाॅजी की शुरुआत हो चुकी है और बाकी के 23 में जल्द ही इसे शुरू की कर दिया जाएगा। दूरस्थ इलाकों और राज्य में डाॅक्टरों की कमी को दूर करने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं। सेना समेत दूसरे राज्यों के करीब 2000 डाॅक्टरों ने यहां अपनी सेवाएं देने के लिए आवेदन दिए हैं। 

Todays Beets: