Monday, June 25, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग पौड़ी के स्कूल तक पहुंची, हालात बेकाबू, लोगों की परेशानियों में इजाफा 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग पौड़ी के स्कूल तक पहुंची, हालात बेकाबू, लोगों की परेशानियों में इजाफा 

पौड़ी। उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग तेजी से रिहाइशी इलाकों को भी अपनी चपेट में लेती जा रही है। मंगलवार को यह आग पौड़ी के कंडोलिया इलाके में स्थित केन्द्रीय विद्यालय भी इसकी चपेट में आ गई जिससे वहां दोपहर को ही छुट्टी कर बच्चों को एक खुले पार्क में भेजना पड़ा जहां से उनके परिवार वाले उन्हें घरों को ले गए। बताया जा रहा है कि आग की लपट गढ़वाल कमिश्नर आवास के पास भी पहुंच गई। आग के कारण कंडोलिया-टेका मोटरमार्ग पर यातायात को भी रोकना पड़ा है। 

गौरतलब है कि उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग से अभी तक करोड़ों रुपये का नुकसान हो चुका है लेकिन आग बुझाने के लिए वन विभाग की ओर से कोई ठोस कदम अब तक नहीं उठाए गए हैं। स्थानीय लोगों की मानें तो जंगलों में लगी आग की वजह से बड़ी संख्या में जंगली जानवरों के भी मारे जाने की संभावना है। धुएं की गुबार के चलते लोगों को सांस लेने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। 

ये भी पढ़ें - सलेमपुर में शिलान्यास करने पहुंचे विधायक को लोगों ने घेरा, पहले शुरू किए गए कामों का मांगा हिसाब

यहां बता दें कि आग की वजह से ल्वाली, कांसखेत और कल्जीखाल आदि क्षेत्रों को जाने वाले वाहन यहां से नहीं गुजर पा रहे हैं। जंगलों में लगी आग के कारण मंगलवार को भी चारों ओर धुआं छाया रहा। पहले से ही मौसम की गर्मी की मार झेल रहे लोगों की परेशानी आग की वजह से बढ़े तापमान ने और बढ़ा दी। पौड़ी के इंडोर स्टेडियम के पास के जंगलों में भी आग लगने की खबर है। इसके बाद पौड़ी के केन्द्रीय विद्यालय के पास तक आग पहुंच गई। मौके पर फायर बिग्रेड, वन विभाग के साथ ही प्रशासन की टीम आग बुझाने के लिए पहुंच गई है।  

ये भी पढ़ें - अब डीएलएड-ब्रिज कोर्स में छूट की मांग को लेकर प्राथमिक शिक्षक उतरे सड़कों पर, बड़े आंदोलन की दी चेतावनी


यहां गौर करने वाली बात है कि बीती रात सतपुली के पास मलेठी 132 केवी बिजली घर तक जंगलों की आग पहुंच गई थी। डीएफओ गढ़वाल लक्ष्मण सिंह ने स्वीकार किया है कि जंगलों की आग बेकाबू हो रही है। विभागीय कर्मी आग बुझाने मं जुटे हैं लेकिन सीमित संसाधनों के कारण दिक्कत आ रही है।

ये भी पढ़ें - शहीद दीपक नैनवाल का पार्थिव शरीर पहुंचा घर, बेटी ने दी मार्मिक श्रद्धांजलि, हरिद्वार में दी जाएगी अंतिम विदाई 

ये भी पढ़ें - मिड-डे मील के भोजन में बाॅल गिरने से प्रिंसीपल ने 5वीं के छात्र की बेरहमी से की पिटाई, कोरोनेशन अस्पताल में किया गया भर्ती

 

Todays Beets: