Saturday, May 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

उत्तराखंड विधानसभा के 300 मीटर के दायरे में धारा 144 लागू, भारी संख्या में पुलिस तैनात

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड विधानसभा के 300 मीटर के दायरे में धारा 144 लागू, भारी संख्या में पुलिस तैनात

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा का माॅनसून सत्र शुरू हो चुका है। ऐसे में विधानसभा परिसर के 300 मीटर के दायरे में धारा 144 लागू कर दी गई है। देहरादून के जिलाधिकारी मुरुगेशन ने विपक्षी संगठनों के द्वारा धरना प्रदर्शन या विरोध को रोका जा सके। बता दें कि जिलाधिकारी ने कहा कि यह आदेश 18 सितंबर से विधानसभा सत्र की समाप्ति तक प्रभावी रहेंगे। बता दें कि कांग्रेस के द्वारा सत्र के पहले दिन सत्ता पक्ष को घेरने की रणनीति कामयाब नहीं हो पाई और उसने सदन से वाॅकआउट किया। 

गौरतलब है कि विधानसभा सत्र में विपक्षी दल कांग्रेस के द्वारा सरकार को घेरने की कोशिश की गई। उसने राज्य में पेट्रोलियम पदार्थों की बढ़ती कीमतों को कम करने और इसे जीएसटी के दायरे में लाने की मांग की लेकिन संसदीय कार्यमंत्री के जवाब के सामने उनकी तैयारी कमजोर नजर आई। महज सरकारी नीतियों का विरोध करने के मकसद से सदन से वाॅकआउट किया। 

ये भी पढ़ें - छात्रा से दुष्कर्म मामले में शिक्षा विभाग सख्त, सीबीएसई से स्कूल की मान्यता निरस्त करने की सिफारिश


यहां बता दें कि विधानसभा सत्र शुरू होने से पहले विपक्ष का दिखा आक्रामक रुख सदन में पहुंचने के बाद बदला-बदला नजर आया। सदन की कार्यवाही शुरू होने के साथ प्रश्नकाल में विपक्ष ने ट्रेजरी बैंच को घेरने की कोशिश की। विपक्ष के शुरुआती प्रयासों से लगा कि महंगाई पर विपक्ष का कार्य स्थगन प्रस्ताव सत्ता पक्ष को असहज करेगा। लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ, विपक्ष का होमवर्क बिल्कुल कमजोर नजर आया। 

 

Todays Beets: