Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

रामनगर हादसे के बाद यातायात को लेकर सख्त हुई सरकार, अब ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन पर जाना होगा जेल

अंग्वाल न्यूज डेस्क
रामनगर हादसे के बाद यातायात को लेकर सख्त हुई सरकार, अब ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन पर जाना होगा जेल

देहरादून।  रामनगर में पिछले हफ्ते हुए भीषण सड़क हादसे में 48 लोगों की मौत के बाद उत्तराखंड सरकार मोटर व्हीकल एक्ट को लेकर काफी सख्त हो गई है। प्रदेश में अब यातायात नियमों के उल्लंघन पर मोटर व्हीकल एक्ट के तहत कार्रवाई के साथ आपराधिक मुकदमा भी दर्ज किया जाएगा। राज्य के परिवहन सचिव के द्वारा इसके आदेश जारी किए गए हैं। यहां बता दें कि राज्य मंे अब ओवरलोडिंग करने, वाहन चलाने के दौरान फोन पर बात करने, ओवर स्पीड, शराब पीकर वाहन चलाने और लाल बत्ती क्राॅस करने पर परिवहन विभाग का प्रवर्तन दल अब आईपीसी की विभिन्न धराओं के तहत आपराधिक मुकदमा दर्ज करने के लिए थानों में तहरीर देगा। इसके बाद पुलिस आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करेगी।

ये भी पढ़ें - उत्तराखंड के ओलंपियन ‘मनीष’ जकार्ता में दिखाएंगे अपना कमाल, 18वें एशियन गेम्स के लिए हुआ चयन


गौरतलब है कि इन लोगों के खिलाफ आईपीसी के तहत कार्रवाई की जाएगी। दोष साबित होने पर उन्हें गिरफ्तार कर जेल भी भेजा जा सकता है। यहां बता दें कि रामनगर में हुए हादसे के बाद राज्य की परिवहन व्यवस्था को लेकर सवाल उठने लगे थे। पुलिस का कहना है कि यातायात के नियमों का पालन कराने की जिम्मेदारी उसकी है तो उसे ज्यादा अधिकार भी मिलना चाहिए। इसके लिए शासन के पास अब प्रस्ताव भेजा गया है।  

Todays Beets: