Monday, January 21, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

बंद हुए चतुर्थ केदार रुद्रनाथ के कपाट , 19 अक्तूबर को बद्ररीनाथ के कपाट बंद होने पर होगा फैसला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बंद हुए चतुर्थ केदार रुद्रनाथ के कपाट , 19 अक्तूबर को बद्ररीनाथ के कपाट बंद होने पर होगा फैसला

गोपेश्वर/देहरादून । पंच केदारों में एक चतुर्थ केदार भगवान रुद्रनाथ के कपाट शीतकाल के लिए विधि विधान और मंत्रोच्चार के साथ बंद कर दिए गए । मंदिर कपाट बंद होने के साथ ही उत्सव डोली रूद्रनाथ से गोपेश्वर के लिए रवाना हो गर्इ है।  वहीं बद्रीनाथ धाम के कपाट बंद होने की तारीख आगामी दशहरा के दिन यानी 19 अक्तूबर को तय होगी। श्री बदरी - केदार मंदिर समिति के मीडिया प्रभारी डॉ हरीश गौड़ ने इस बारे में जानकारी दी। 

बता दें कि रुद्रनाथ धाम भगवान शिव के परम धामों में से एक है। गर्मियों में 6 माह तक रुद्रनाथ के कपाट खुले रहते हैं, जबकि शीतकाल में बाबा गोपेश्वर स्थित गोपीनाथ मंदिर में दर्शन देते हैं। बुधवार को शीतकाल के लिए धाम के कपाट विधि विधान से बंद कर दिए हैं। इसके लिए धाम की फूलों से सजावट की गई थी। रुद्रनाथ धाम का पंचकेदारों में चौथा स्थान है। धामों को पंचकेदार कहा गया। 


वहीं बदरी-केदार मंदिर समिति के मीडिया प्रभारी डॉ हरीश गौड़ ने जानकारी देते हुए कहा कि 19 अक्तूबर को दशहरा वाले दिन सुबह 11 बजे पंचांग गणनाके बाद बद्ररीनाथ मंदिर के कपाट बंद किए जाने की तिथि को तय किया जाएगा।

Todays Beets: