Sunday, February 18, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

पौड़ी का सुरजीत इसरो में बना वैज्ञानिक, सेल्फ स्टडी करने वालों के लिए बने मिसाल

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पौड़ी का सुरजीत इसरो में बना वैज्ञानिक, सेल्फ स्टडी करने वालों के लिए बने मिसाल

देहरादून। उत्तराखंड के सपूतों ने अपने हुनर और कौशल के बल पर पूरी दुनिया में अपनी धाक जमाई है। इस कड़ी में पुलिस मुख्यालय में कार्यरत गिरिबर सिंह रावत के बेटे सुरजीत रावत का नाम भी जुड़ गया है जिसका इसरो मंे वैज्ञानिक के पद पर चयन हुआ है। बता दें कि पूरे देश से चुने गए 40 छात्रों में से सुरजीत 33वें स्थान पर रहे।

घर पर रहकर ही की तैयारी

गौरतलब है कि सुरजीत मूल रूप से पौड़ी गढ़वाल के रहने वाले हैं और ग्राफिक एरा में बीटेक करने के बाद गेट की तैयारी कर रहे थे। ऑल इंडिया स्तर पर सुरजीत ने 508वीं रैंक हासिल कर आईआईटी हैदराबाद में कम्युनिकेशन एंड सिंगल प्रोसेसिंग ट्रेड से एमटेक किया। घर पर रहकर ही उसने तैयारी की और इसरो की परीक्षा दी। बता दें कि पूरे देश से करीब साढ़े 3 लाख अभ्यर्थी इस परीक्षा में शामिल हुए थे। साक्षात्कार में 12 सदस्यीय टीम ने 40 अभ्यर्थियों को फाइनल किया है। 


ये भी पढ़ें - बस एक क्लिक पर मिलेगी सरकारी स्कूलों के बारे में जानकारी, एजूकेशन पोर्टल होगा लाॅन्च

बिना कोचिंग के मिली सफलता

गौरतलब है कि परिवार के लोगों ने बताया कि सुरजीत ने कभी भी किसी भी कक्षा में कोचिंग नहीं ली है। वहीं, सुरजीत सेल्फ स्टडी कर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्रों के लिए भी मिसाल बन गए हैं। 

Todays Beets: