Friday, December 15, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

शिक्षक और शिक्षा विभाग के बीच खिंची तलवारें, प्रांतीय अधिवेशन के लिए शिक्षकों को नहीं मिलेगी छुट्टी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
शिक्षक और शिक्षा विभाग के बीच खिंची तलवारें, प्रांतीय अधिवेशन के लिए शिक्षकों को नहीं मिलेगी छुट्टी

देहरादून। उत्तराखंड में शिक्षकों और शिक्षा विभाग में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। शिक्षा मंत्री ने हाल ही में शिक्षक संगठनों को नसीहत दी थी कि अधिवेशन का समय सीमित करें। उन्होंने कई दिनों तक चलने वाले अधिवेशन से बचने की सलाह दी थी। अब राजकीय शिक्षक संघ के प्रांतीय अधिवेशन से पहले शिक्षा महानिदेशक ने नया फरमान जारी कर दिया है जिसमें कहा गया है कि इस अधिवेशन में सिर्फ डेलीगेट ही हिस्सा लेंगे और उन्हें ही विशेष अवकाश मान्य होंगे।  शिक्षक स्कूलों में पठन-पाठन का काम करेंगे। 

शिक्षकों को नहीं मिलेगी छुट्टी

आपको बता दें कि राजकीय शिक्षक संघ का प्रांतीय अधिवेशन 23 और 24 नवंबर को होने वाली है। विद्यालयी शिक्षा उत्तराखंड के महानिदेशक कैप्टन आलोक शेखर तिवारी ने बयान जारी कर कह दिया है कि इस दिन सिर्फ डेलीगेट्स को ही विशेष अवकाश मान्य होंगे। वहीं अन्य शिक्षक अपने स्कूलों में छात्रों को पढ़ाने का काम करेंगे। यदि कोई शिक्षक इस अवधि में स्कूलों से अनुपस्थित पाए जाते हैं जो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।  उन्होंने कहा कि राजकीय शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष व महामंत्री जनपद के मुख्य शिक्षा अधिकारी को अधिवेशन में प्रतिभाग करने वाले डेलीगेट्स की सूची उपलब्ध कराएंगे।

ये भी पढ़ें - उत्तराखंड के गढ़वाल में बड़े भूकंप की चेतावनी, वैज्ञानिकों ने जताई चिंता


फरमान संविधान के खिलाफ 

वहीं राजकीय शिक्षक संघ का कहना है कि महानिदेशक माध्यमिक शिक्षा ने आदेश निर्गत किया है कि केवल डेलीगेट्स ही अधिवेशन में प्रतिभाग करेंगे जो कि राजकीय शिक्षक संघ उत्तराखंड के संविधान के खिलाफ है। उनकी तरफ से कहा जा रहा है कि संघ का जो सदस्य है, वह अधिवेशन में प्रतिभाग कर सकता है, छात्रों की पढ़ाई का नुकसान न हो इसके लिए शिक्षकों ने पहले से ही अनुशासन का पालन करते हुए कुछ शिक्षकों को ही अधिवेशन में हिस्सा लेने के लिए भेजने का फैसला लिया है। इसके बाद भी महानिदेशक की तरफ से ऐसा आदेश देना पूरी तरह से अनुचित है।

Todays Beets: