Wednesday, April 24, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

फूलों की घाटी में इस बार फिर आई बहार, पिछले सालों की तुलना में बढ़ी पर्यटकों की संख्या, 31 अक्तूबर को होगी बंद

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फूलों की घाटी में इस बार फिर आई बहार, पिछले सालों की तुलना में बढ़ी पर्यटकों की संख्या, 31 अक्तूबर को होगी बंद

देहरादून । पर्यटकों के लिए एक अहम खबर है। उत्तराखंड में विश्व धरोहर फूलों की घाटी 31 अक्तूबर से पर्यटकों की आवाजाही के लिए बंद हो जाएगी। इस बार यहां बड़ी संख्या में पर्यटकों का आना हुआ, पिछले कुछ सालों की तुलना में इस बार विदेशी पर्यटकों ने फिर से फूलों की घाटी का रुख किया है। फूलों की घाटी के वन क्षेत्राधिकारी बृजमोहन भारती का कहना है कि गत वर्ष की तुलना में इस बार अधिक पर्यटक घाटी के दीदार को पहुंचे हैं। इस वर्ष अभी तक 14725 पर्यटक घाटी के सैर-सपाटे के लिए पहुंचे। इनमें 14061 भारतीय और 664 विदेशी पर्यटक शामिल हैं।

बता दें कि विश्व धरोहर में शामिल उत्तराखंड स्थित फूलों की घाटी में पिछले कुछ सालों में पर्यटकों ने आना कम कर दिया था। उत्तराखंड में पिछले कुछ समय में जारी आपदाओं के चलते कुछ लोगों का फूलों की घाटी की ओर रुख कम होने से जहां स्थानीय गाइड लोगों का धंधा मंदा पड़ गया था वहीं नंदा देवी राष्ट्रीय पार्क प्रसासन को भी राजस्व का नुकसान हो रहा था, लेकिन इस साल पिछले कुछ सालों की तुलना में ज्यादा पर्यटकों ने प्रकृति के इस अनोखे नजारों के दर्शन किए हैं।


जानकारी के मुताबिक, घाटी में बढ़ती पर्यटकों की संख्या से नंदा देवी राष्ट्रीय पार्क प्रशासन को अभी तक 24 लाख 11 हजार की आय प्राप्त हुई है। बता दें कि फूलों की घाटी दुनिया में एकमात्र ऐसी घाटी है, जहां 300 से अधिक प्रजाति के फूल खिलते हैं। अपनी जैव विविधता के लिए यह घाटी विश्व विख्यात है। यहां फूलों के साथ ही दुर्लभ प्रजाति के वन्य जीवों, परिंदों व जड़ी-बूटियों भी नजर आती हैं। 

Todays Beets: