Wednesday, November 14, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

फूलों की घाटी में इस बार फिर आई बहार, पिछले सालों की तुलना में बढ़ी पर्यटकों की संख्या, 31 अक्तूबर को होगी बंद

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फूलों की घाटी में इस बार फिर आई बहार, पिछले सालों की तुलना में बढ़ी पर्यटकों की संख्या, 31 अक्तूबर को होगी बंद

देहरादून । पर्यटकों के लिए एक अहम खबर है। उत्तराखंड में विश्व धरोहर फूलों की घाटी 31 अक्तूबर से पर्यटकों की आवाजाही के लिए बंद हो जाएगी। इस बार यहां बड़ी संख्या में पर्यटकों का आना हुआ, पिछले कुछ सालों की तुलना में इस बार विदेशी पर्यटकों ने फिर से फूलों की घाटी का रुख किया है। फूलों की घाटी के वन क्षेत्राधिकारी बृजमोहन भारती का कहना है कि गत वर्ष की तुलना में इस बार अधिक पर्यटक घाटी के दीदार को पहुंचे हैं। इस वर्ष अभी तक 14725 पर्यटक घाटी के सैर-सपाटे के लिए पहुंचे। इनमें 14061 भारतीय और 664 विदेशी पर्यटक शामिल हैं।

बता दें कि विश्व धरोहर में शामिल उत्तराखंड स्थित फूलों की घाटी में पिछले कुछ सालों में पर्यटकों ने आना कम कर दिया था। उत्तराखंड में पिछले कुछ समय में जारी आपदाओं के चलते कुछ लोगों का फूलों की घाटी की ओर रुख कम होने से जहां स्थानीय गाइड लोगों का धंधा मंदा पड़ गया था वहीं नंदा देवी राष्ट्रीय पार्क प्रसासन को भी राजस्व का नुकसान हो रहा था, लेकिन इस साल पिछले कुछ सालों की तुलना में ज्यादा पर्यटकों ने प्रकृति के इस अनोखे नजारों के दर्शन किए हैं।


जानकारी के मुताबिक, घाटी में बढ़ती पर्यटकों की संख्या से नंदा देवी राष्ट्रीय पार्क प्रशासन को अभी तक 24 लाख 11 हजार की आय प्राप्त हुई है। बता दें कि फूलों की घाटी दुनिया में एकमात्र ऐसी घाटी है, जहां 300 से अधिक प्रजाति के फूल खिलते हैं। अपनी जैव विविधता के लिए यह घाटी विश्व विख्यात है। यहां फूलों के साथ ही दुर्लभ प्रजाति के वन्य जीवों, परिंदों व जड़ी-बूटियों भी नजर आती हैं। 

Todays Beets: