Tuesday, September 25, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

उत्तराखंड में यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने की कवायद तेज, गढ़वाली और कुमाऊंनी में भी मिलेगी जानकारी 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड में यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने की कवायद तेज, गढ़वाली और कुमाऊंनी में भी मिलेगी जानकारी 

देहरादून। राज्य में यातायात व्यवस्था को सुधारने की कवायद तेज कर दी गई है। इसके लिए पहाड़ी इलाके में रहने वाले लोगों को अब स्थानीय भाषा गढ़वाली और कुमाऊंनी में भी जानकारी दी जाएगी। इसके साथ ही नियमों को तोड़ने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। अतिक्रमण करने वालों पर अब सीआरपीसी के तहत कार्रवाई होगी। डीजीपी अनिल रतूड़ी ने यातायात सुधार को लेकर पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की है। 

स्थानीय भाषाओं में होंगे संकेत

गौरतलब है कि इस बैठक के बाद एडीजी अशोक कुमार ने बताया कि पहाड़ों पर गढ़वाली, कुमाऊंनी और जौनसारी भाषा में यातायात नियमों के प्रति स्थानीय लोगों को जागरूक किया जाएगा। इसके लिए सोशल मीडिया का सहारा भी लिया जाएगा। यहां स्थानीय भाषा में यातायात के नियमों का प्रचार प्रसार किया जाएगा। स्थानीय भाषाओं में ही यातायात के संकेत और स्लोगन लिखे जाएंगे ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को यह समझ में आ सके। 

ये भी पढ़ें - जहर पीकर जनता दरबार में पहुंचे ट्रांसपोर्टर की मौत, मुख्यमंत्री ने दिया जांच का आदेश

अतिरिक्त पुलिसकर्मी तैनात

आपको बता दें कि हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर में बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं को देखते हुए यातायात में सुधार के लिए 100-100 अतिरिक्त पुलिसकर्मी तैनात किए जाएंगे। वहीं टिहरी और पौड़ी में 30-30 पुलिसकर्मी लगाए जाएंगे। 


इन बातों के दिए निर्देश

-दुर्घटना संभावित क्षेत्रों में चेतावनी बोर्ड लगाए जाएंगे।

-सड़क सुरक्षा जागरूकता अभियान चलाया जाएगा।

-सभी जनपदों में नए पार्किंग स्थल विकसित किए जाएंगे।

-यातायात नियम तोड़ने वालों के लाइसेंस निरस्त किए जाएं।

-पार्किंग स्थल, बाईपास, फ्लाईओवर निर्माण व सड़क सुधारीकरण को संबंधित विभागों से समन्वय बनाया जाएगा।

Todays Beets: