Saturday, January 29, 2022

Breaking News

   बिहार: खान सर के समर्थन में उतरे पप्पू यादव, बोले- शिक्षकों पर केस दुर्भाग्यपूर्ण     ||   पंजाब: राहुल गांधी ने स्वर्ण मंदिर में माथा टेका, CM चन्नी और नवजोत सिंह सिद्धू भी साथ     ||   UP: मथुरा में बोले गृह मंत्री अमित शाह- माफिया पर कार्रवाई से अखिलेश को दर्द हुआ     ||   सीएम योगी का सपा पर तंज- जो लोग फ्री बिजली देने की बात कर रहे, उन्होंने UP को अंधेरे में रखा     ||   अरुणाचल प्रदेश से कई दिनों से लापता छात्र चीनी सेना को मिला, भारतीय सेना को दी गई जानकारी     ||   हैदराबाद: उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू कोरोना पॉजिटिव, एक हफ्ते तक आइसोलेशन में रहेंगे     ||   नेताजी की प्रतिमा का पीएम मोदी ने किया अनावरण, कहा- हमारे सामने नए भारत के निर्माण का लक्ष्य     ||   'यूपी में सबसे ज्यादा महिलाएं असुरक्षित हैं', अखिलेश यादव का बीजेपी पर अटैक     ||   दुख की बात है कि हमारे वीर जवानों के लिए जो अमर ज्योति जलती थी, उसे आज बुझा दिया जाएगा- राहुल गांधी     ||   चन्नी चमकौर साहिब से चुनाव हार रहे हैं, ED को गड्डी गिनता देख लोग सदमे में हैं- अरविंद केजरीवाल     ||

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 - कांग्रेस का बड़ा ऐलान , नहीं करेगी कोई भी बड़ी रैली

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यूपी विधानसभा चुनाव 2022 - कांग्रेस का बड़ा ऐलान , नहीं करेगी कोई भी बड़ी रैली

लखनऊ । उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों को लेकर कांग्रेस ने एक बड़ा ऐलान किया है । राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर पार्टी ने फैसला लिया है कि वह विधानसभा चुनावों के मद्देनजर राज्य में कोई भी बड़ी रैली नहीं करेगी। पार्टी छोटी छोटी जनसभाओं के माध्यम से ही जनता को योगी सरकार की नाकामियों के बारे में बताएगी । इतना ही नहीं इन जनसभाओं में ही पार्टी कांग्रेस की खुबियों और आगामी योजनाओं के बारे में जनता को बताएगी । इससे पहले चुनाव आयोग की टीम के यूपी दौरे के समय भी पार्टी के कई नेताओं ने कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच चुनावी रैलियों पर रोक लगाने की मांग की थी । 

बता दें कि यूपी विधानसभा चुनावों को लेकर जहां भारतीय जनता पार्टी बहुत आक्रामक होकर विपक्षियों पर निशाना साध रही है , वहीं अभी तक कांग्रेस और बसपा सक्रिय नजर नहीं आ रही हैं । अभी तक पार्टी महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ही राज्य में पूरी तरह से सक्रिय नजर आ रही हैं , लेकिन पार्टी के दूसरे नेता चुनावों को लेकर एक्टिव नजर नहीं आ रहे । कुछ ऐसा ही हाल मायावती की पार्टी बसपा का भी है । 


दोनों ही दल अभी चुनावों में एक्टिव नजर नहीं आ रहे हैं , इस बीच कांग्रेस ने ऐलान कर दिया है कि वह कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर राज्य में कोई भी मेगा रैली नहीं करेगी । 

असल में चुनावी रैलियों में जुट रही भीड़ हर राजनीतिक पार्टी के लिए चुनौती है और अब पंजाब कांग्रेस ने इसका तोड़ निकाला है। पंजाब में जन-जन तक पहुंचने के लिए बड़ी-बड़ी रैलियां करने की बजाय पार्टी ने अब वही फॉर्म्युला अपनाने का फैसला किया है, जिसपर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ यानी आरएसएस हमेशा से ही काम करता रहा है। दरअसल, रविवार को पंजाब चुनाव के लिए बनी कैंपेन कमेटी की बैठक में यह फैसला लिया गया है कि पार्टी अब आरएसएस की तरह ही जमीनी स्तर पर काम करेगी और निजी तौर पर मतदाताओं के संपर्क में जाएगी। 

Todays Beets: