Friday, April 23, 2021

Breaking News

   कोरोनाः यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को लगाई गई वैक्सीन     ||   महाराष्ट्रः वसूली केस की होगी सीबीआई जांच, फडणवीस बोले- अनिल देशमुख दें इस्तीफा     ||   ड्रग्स केस में गिरफ्तार अभिनेता एजाज खान कोरोना पॉजिटिव, NCB टीम का भी होगा टेस्ट     ||   मथुराः लेफ्टिनेंट जनरल मनोज कुमार कटियार बने वन स्ट्राइक कोर के कमांडर     ||   कर्नाटकः भ्रष्टाचार के मामले की जांच पर स्टे, सीएम येदियुरप्पा को SC ने दी राहत     ||   छत्तीसगढ़ः नक्सल के खिलाफ लड़ाई अब निर्णायक चरण में, हमारी जीत निश्चित है- अमित शाह     ||   यूपीः पंचायत चुनाव में 5 से अधिक लोगों के साथ प्रचार करने पर रोक, कोरोना के कारण फैसला     ||   स्विटजरलैंड में चेहरा ढकने पर लगाई गई पाबंदी , मुस्लिम संगठनों ने जताई आपत्ति     ||   सिंघु बॉर्डर के नजदीक अज्ञात लोगों ने रविवार रात की हवाई फायरिंग, पुलिस कर रही छानबीन     ||   जम्मू कश्मीर - प्रोफेसर अब्दुल बरी नाइक को पुलिस ने किया गिरफ्तार, युवाओं को बरगलाने का आरोप     ||

नहीं घटेगी सिविल सेवा परीक्षा में सामान्य वर्गों के छात्रों की उम्र सीमा-जितेन्द्र सिंह

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नहीं घटेगी सिविल सेवा परीक्षा में सामान्य वर्गों के छात्रों की उम्र सीमा-जितेन्द्र सिंह

नई दिल्ली। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की तैयारी करने वालों के लिए एक अच्छी खबर है। सरकार ने आयोग की परीक्षा में शामिल होने वालों के आयु मानदंड को लेकर किसी तरह का बदलाव करने से मना कर दिया है। बता दें कि नीति आयोग ने केद्र सरकार को सिविल सेवा परीक्षा में शामिल होने वाले सामान्य श्रेणी के अभ्यर्थियों की अधिकतम आयु सीमा को 32 घटाकर 27 वर्ष करने का सुझाव दिया था। फिलहाल सरकार की ओर से कहा गया है कि इस तरह की अटकलों पर विराम लगाया जाना चाहिए। 

गौरतलब है कि यूपीएससी में आवेदन करने के लिए सामान्य श्रेणी के उम्मीदवारों की अधिकतम उम्र सीमा 32 साल है। नीति आयोग ने इसे घटाकर 27 साल करने की सलाह दी थी। प्रधानमंत्री कार्यालय में मंत्री डाॅक्टर जितेन्द्र सिंह ने कहा कि सरकार की ओर से इस तरह का कोई कदम नहीं उठाया गया है और इस तरह के कयासों और अटकलों पर विराम लगाया जाना चाहिए। 

ये भी पढ़ें- भारत को अस्थिर कर सकता है पाकिस्तान, आईएसआई 2 हजार और 500 के नकली नोट भेजने के फिराक में- खुफ...


यहां बता दें कि मंत्री ने कहा कि सिविल सेवा की परीक्षाओं में शामिल होने के लिए न्यूनतम आयु सीमा 21 और अधिकतम 32 वर्ष है। इससे पूर्व बासवन कमेटी भी आयु सीमा में कटौती की संस्तुति कर चुकी है। पूर्ववर्ती यूपीए सरकार द्वारा सिविल सेवा परीक्षा में सिविल सर्विसेज एप्टीट्यूड टेस्ट (सीसैट) लागू कर इसके प्रारूप में व्यापक बदलाव किया गया था। केंद्र में भाजपा सरकार बनने के बाद प्रतियोगी छात्रों ने 2014 में राजधानी दिल्ली सहित अन्य शहरों में इसके खिलाफ जमकर आंदोलन किया था। इसके बाद ही सरकार ने नीति आयोग की सिफारिशों को मानने से इंकार कर दिया है। 

आपको बता दें कि नीति आयोग ने 2022-23 तक सिविल सेवा परीक्षा में सामान्य वर्गों के उम्मीदवारों की आयुसीमा करने के साथ ही इस बात की भी सिफारिश की थी कि इसके लिए एक ही परीक्षा ली जाए।

Todays Beets: