Sunday, November 1, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

नहीं घटेगी सिविल सेवा परीक्षा में सामान्य वर्गों के छात्रों की उम्र सीमा-जितेन्द्र सिंह

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नहीं घटेगी सिविल सेवा परीक्षा में सामान्य वर्गों के छात्रों की उम्र सीमा-जितेन्द्र सिंह

नई दिल्ली। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की तैयारी करने वालों के लिए एक अच्छी खबर है। सरकार ने आयोग की परीक्षा में शामिल होने वालों के आयु मानदंड को लेकर किसी तरह का बदलाव करने से मना कर दिया है। बता दें कि नीति आयोग ने केद्र सरकार को सिविल सेवा परीक्षा में शामिल होने वाले सामान्य श्रेणी के अभ्यर्थियों की अधिकतम आयु सीमा को 32 घटाकर 27 वर्ष करने का सुझाव दिया था। फिलहाल सरकार की ओर से कहा गया है कि इस तरह की अटकलों पर विराम लगाया जाना चाहिए। 

गौरतलब है कि यूपीएससी में आवेदन करने के लिए सामान्य श्रेणी के उम्मीदवारों की अधिकतम उम्र सीमा 32 साल है। नीति आयोग ने इसे घटाकर 27 साल करने की सलाह दी थी। प्रधानमंत्री कार्यालय में मंत्री डाॅक्टर जितेन्द्र सिंह ने कहा कि सरकार की ओर से इस तरह का कोई कदम नहीं उठाया गया है और इस तरह के कयासों और अटकलों पर विराम लगाया जाना चाहिए। 

ये भी पढ़ें- भारत को अस्थिर कर सकता है पाकिस्तान, आईएसआई 2 हजार और 500 के नकली नोट भेजने के फिराक में- खुफ...


यहां बता दें कि मंत्री ने कहा कि सिविल सेवा की परीक्षाओं में शामिल होने के लिए न्यूनतम आयु सीमा 21 और अधिकतम 32 वर्ष है। इससे पूर्व बासवन कमेटी भी आयु सीमा में कटौती की संस्तुति कर चुकी है। पूर्ववर्ती यूपीए सरकार द्वारा सिविल सेवा परीक्षा में सिविल सर्विसेज एप्टीट्यूड टेस्ट (सीसैट) लागू कर इसके प्रारूप में व्यापक बदलाव किया गया था। केंद्र में भाजपा सरकार बनने के बाद प्रतियोगी छात्रों ने 2014 में राजधानी दिल्ली सहित अन्य शहरों में इसके खिलाफ जमकर आंदोलन किया था। इसके बाद ही सरकार ने नीति आयोग की सिफारिशों को मानने से इंकार कर दिया है। 

आपको बता दें कि नीति आयोग ने 2022-23 तक सिविल सेवा परीक्षा में सामान्य वर्गों के उम्मीदवारों की आयुसीमा करने के साथ ही इस बात की भी सिफारिश की थी कि इसके लिए एक ही परीक्षा ली जाए।

Todays Beets: