Wednesday, April 21, 2021

Breaking News

   कोरोनाः यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को लगाई गई वैक्सीन     ||   महाराष्ट्रः वसूली केस की होगी सीबीआई जांच, फडणवीस बोले- अनिल देशमुख दें इस्तीफा     ||   ड्रग्स केस में गिरफ्तार अभिनेता एजाज खान कोरोना पॉजिटिव, NCB टीम का भी होगा टेस्ट     ||   मथुराः लेफ्टिनेंट जनरल मनोज कुमार कटियार बने वन स्ट्राइक कोर के कमांडर     ||   कर्नाटकः भ्रष्टाचार के मामले की जांच पर स्टे, सीएम येदियुरप्पा को SC ने दी राहत     ||   छत्तीसगढ़ः नक्सल के खिलाफ लड़ाई अब निर्णायक चरण में, हमारी जीत निश्चित है- अमित शाह     ||   यूपीः पंचायत चुनाव में 5 से अधिक लोगों के साथ प्रचार करने पर रोक, कोरोना के कारण फैसला     ||   स्विटजरलैंड में चेहरा ढकने पर लगाई गई पाबंदी , मुस्लिम संगठनों ने जताई आपत्ति     ||   सिंघु बॉर्डर के नजदीक अज्ञात लोगों ने रविवार रात की हवाई फायरिंग, पुलिस कर रही छानबीन     ||   जम्मू कश्मीर - प्रोफेसर अब्दुल बरी नाइक को पुलिस ने किया गिरफ्तार, युवाओं को बरगलाने का आरोप     ||

तमिल में नीट-2018 की परीक्षा देने वाले छात्रों को हाईकोर्ट ने दी बड़ी राहत, 196 ग्रेस मार्क्स देने के आदेश 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
तमिल में नीट-2018 की परीक्षा देने वाले छात्रों को हाईकोर्ट ने दी बड़ी राहत, 196 ग्रेस मार्क्स देने के आदेश 

नई दिल्ली। नीट-2018 की परीक्षा तमिल भाषा में देने वाले हजारों छात्रों को मद्रास हाईकोर्ट ने  बड़ी राहत दी है। कोर्ट ने परीक्षा आयोजित कराने वाले संस्था सीबीएसई को जोर का झटका देते हुए परीक्षा में शामिल हुए छात्रों को 196 ग्रेस मार्क्स देने का आदेश दिए है। इसके साथ ही 2 हफ्ते के अंदर नई रैंकिंग लिस्ट जारी करने के निर्देश दिए हैं। राज्यसभा सांसद टीके रंगराजन द्वारा दायर जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बेंच ने यह फैसला दिया है। 

गौरतलब है कि तमिल के प्रश्नपत्रों में करीब 49 प्रश्नों का गलत अनुवाद किया गया था। मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बैंच ने ने इस पर संज्ञान लेते हुए सीबीएसई को सख्त निर्देश देते हुए छात्रों को 196 ग्रेस मार्क्स देने का आदेश दिया है। यहां बता दें कि इस बार नीट की परीक्षा में करीब 24,500 छात्रों ने तमिल भाषा में परीक्षा दी थी। 


ये भी पढ़ें - इंडिगो की विमानों से यात्रा करने वालों की हो गई बल्ले-बल्ले, 12वीं एनिवर्सरी पर दे रहा यात्रि...

देश भर के सरकारी और निजी मेडिकल संस्थानों में एमबीबीएस व बीडीएस कोर्स में दाखिले के लिए नीट परीक्षा आयोजित की जाती है। सीबीएसई ने 6 मई, 2018 को यह परीक्षा आयोजित की थी। 4 जून को इसका रिजल्ट घोषित किया गया था। बता दें कि माकपा के राज्यसभा सांसद टी. के. रंगराजन ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर दावा किया था कि नीट प्रश्न पत्र में 49 सवालों का तमिल अनुवाद गलत किया गया है। इसके लिए उन्होंने इन प्रश्नों में स्टूडेंट्स को फुल मार्क्स देने की मांग की थी। 

Todays Beets: