Tuesday, January 28, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

तमिल में नीट-2018 की परीक्षा देने वाले छात्रों को हाईकोर्ट ने दी बड़ी राहत, 196 ग्रेस मार्क्स देने के आदेश 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
तमिल में नीट-2018 की परीक्षा देने वाले छात्रों को हाईकोर्ट ने दी बड़ी राहत, 196 ग्रेस मार्क्स देने के आदेश 

नई दिल्ली। नीट-2018 की परीक्षा तमिल भाषा में देने वाले हजारों छात्रों को मद्रास हाईकोर्ट ने  बड़ी राहत दी है। कोर्ट ने परीक्षा आयोजित कराने वाले संस्था सीबीएसई को जोर का झटका देते हुए परीक्षा में शामिल हुए छात्रों को 196 ग्रेस मार्क्स देने का आदेश दिए है। इसके साथ ही 2 हफ्ते के अंदर नई रैंकिंग लिस्ट जारी करने के निर्देश दिए हैं। राज्यसभा सांसद टीके रंगराजन द्वारा दायर जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बेंच ने यह फैसला दिया है। 

गौरतलब है कि तमिल के प्रश्नपत्रों में करीब 49 प्रश्नों का गलत अनुवाद किया गया था। मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बैंच ने ने इस पर संज्ञान लेते हुए सीबीएसई को सख्त निर्देश देते हुए छात्रों को 196 ग्रेस मार्क्स देने का आदेश दिया है। यहां बता दें कि इस बार नीट की परीक्षा में करीब 24,500 छात्रों ने तमिल भाषा में परीक्षा दी थी। 


ये भी पढ़ें - इंडिगो की विमानों से यात्रा करने वालों की हो गई बल्ले-बल्ले, 12वीं एनिवर्सरी पर दे रहा यात्रि...

देश भर के सरकारी और निजी मेडिकल संस्थानों में एमबीबीएस व बीडीएस कोर्स में दाखिले के लिए नीट परीक्षा आयोजित की जाती है। सीबीएसई ने 6 मई, 2018 को यह परीक्षा आयोजित की थी। 4 जून को इसका रिजल्ट घोषित किया गया था। बता दें कि माकपा के राज्यसभा सांसद टी. के. रंगराजन ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर दावा किया था कि नीट प्रश्न पत्र में 49 सवालों का तमिल अनुवाद गलत किया गया है। इसके लिए उन्होंने इन प्रश्नों में स्टूडेंट्स को फुल मार्क्स देने की मांग की थी। 

Todays Beets: