Monday, August 10, 2020

Breaking News

   राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने गहलोत-पायलट में ठनी     ||   कानपुर गोलीकांड की जांच के लिए एसआईटी गठित, 31 जुलाई तक सौंपनी होगी रिपोर्ट     ||   धमकी देकर फरीदाबाद में रिश्तेदार के घर रुका था विकास, अमर दुबे से हुआ था झगड़ा     ||   राजस्थान: विधायकों को राज्य से बाहर जाने से रोकने के लिए सीमा पर बढ़ाई गई चौकसी     ||   हार्दिक पटेल गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त     ||   गुवाहाटी केंद्रीय जेल में बंद आरटीआई कार्यकर्ता अखिल गोगोई समेत 33 कैदी कोरोना पॉजिटिव     ||   अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव, नानावती अस्पताल में कराए गए भर्ती     ||   राजस्थान सरकार का प्राइवेट स्कूलों को आदेश- स्कूल खुलने तक फीस न लें     ||   गुजरात सरकार में मंत्री रमन पाटकर कोरोना वायरस से संक्रमित     ||   विकास दुबे पर पुलिस की नाकामी से भड़के योगी, खुद रख रहे ऑपरेशन पर नजर!     ||

CBSE ने बदल दिया 10वीं-12वीं की परीक्षाओं का पैटर्न, जानें- क्या-क्या हुआ है बदलाव

अंग्वाल न्यूज डेस्क
CBSE ने बदल दिया 10वीं-12वीं की परीक्षाओं का पैटर्न, जानें- क्या-क्या हुआ है बदलाव

नई दिल्ली । CBSE Exam Pattern Change ।  केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने छात्रों की गहन सोच और तर्क क्षमता को बढ़ाने के लिए 2019-20 सत्र से 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षा के पैटर्न में बदलाव किए हैं । CBSE के अब हर विषय के पेपर में 1 नंबर वाले 25 प्रतिशत बहुविकल्पीय प्रश्न होंगे । लोकसभा में सांसद केशरी देव पटेल और चिराग पासवान द्वारा उठाए गए सवाल के जवाब में HRD मंत्री रमेश पोखरियाल ने यह जानकारी दी है । उन्होंने बताया - प्रश्नपत्र में 20 फीसदी सवालों को बहुविकल्पीय और 10 फीसदी को रचनात्मक बनाया जाएगा । सभी सवालों के 33 फीसदी हिस्से में छात्रों को इं‍टरनल ऑप्शन मिलेगा ।

बता दें कि सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षा के पैटर्न में जो बदलाव किए हैं , उसके अनुसार, अब हर विषय के पेपर में 1 नंबर वाले 25 फीसदी बहुविकल्पीय प्रश्न होंगे । वहीं, जिन विषयों में प्रैक्टिकल नहीं होते हैं, उनमें इस बार से इंटरनल असेसमेंट लिया जाएगा ।  ये इंटरनल असेसमेंट 20 अंकों का होगा । 


खास बात ये भी है कि आगामी 2020 में होने वाली 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं में यह नई व्यवस्था लागू होगी । इसके संबंध में CBSE ने कुछ दिनों पहले सर्कुलर भी जारी किया था । इस सर्कुलर के मुताबिक 10वीं कक्षा में पास होने के लिए हर सब्जेक्ट में प्रैक्टिकल व थ्योरी में मिलाकर 33 प्रतिशत अंक लाने होंगे । 

इसमें कहा गया है कि 12वीं में ऐसा नहीं है । 12वीं के स्टूडेंट्स को पास होने के लिए प्रैक्टिकल, थ्योरी और इंटरनल असेसमेंट में अलग-अलग 33 फीसद अंक लाने होंगे । 12वीं परीक्षा में 70 अंक वाले विषय में 23 और 80 अंक वाले विषय में 26 अंक लाना जरूरी होगा । 

Todays Beets: