Sunday, November 1, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

बेरोजगारों के लिए अमरिंदर सरकार ने खोला बंपर भर्तियों का पिटारा, CM के आदेश के बाद 1 लाख पदों पर भर्ती की तैयारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बेरोजगारों के लिए अमरिंदर सरकार ने खोला बंपर भर्तियों का पिटारा, CM के आदेश के बाद 1 लाख पदों पर भर्ती की तैयारी

चंडीगढ़ । केंद्र की मोदी सरकार पर लोगों को रोजगार नहीं देने का आरोप लगाने वाली कांग्रेस अब अपने स्तर पर बेरोजगारों को राहत देने की जुगत में जुटी है। इस सब के बीच खबर है कि पंजाब सरकार राज्य में बेरोजगारी से परेशान युवाओं के लिए बंपर नौकरियों का पिटारा खोलने जा रही है। सरकारी बयान में आधिकारिक प्रवक्ता का कहना है कि सरकार ने अलग अलग विभागों में लंबित करीब 1 लाख पदों पर भर्तियां शुरू करने जा रही है। इस भर्ती के जरिए शिक्षा विभाग , चिकित्सा , स्वास्थ और शोध जैसे विभागों में खाली पड़े पदों को भरा जाएगा। खुद राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक बयान में कहा कि पहले इन विभागों में खाली पड़े पदों को भरा जाएगा, इसके बाद अन्य विभागों में खाली पड़े पदों को भरने की कवायद की जाएगी।

भर्ती की योजना बनाने के निर्देश

बता दें कि सीएम अमरिंदर सिंह ने मुख्य सचिव करण अवतार सिंह को निर्देश दिए हैं कि वह सरकारी विभागों में खाली पड़े पदों को भरने के लिए आवश्यक योजना बनाएं। भर्ती की रूपरेखा तैयार करने के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ बैठकों का दौर शुरू किया जाए। 


घर-घर रोजगार योजना पर चर्चा

असल में सीएम ने हाल में प्रदेश सरकार की घर-घर रोजगार और कारोबार मिशन स्कीम की प्रगति जानने के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई थी। इस बैठक में सीएम ने मुख्य सचिव को उपरोक्त निर्देश दिए। इस दौरान सीएम ने अपनी योजना के तहत 5 करोड़ रुपये का फंड तत्काल जारी करने के लिए भी कहा। इस दौरान सीएम ने प्रदेश में बेरोजगारी को दूर करने के लिए अर्ध कुशल और अकुशल लोगों को प्रशिक्षण देने की योजना पर बी चर्चा की।

Todays Beets: