Thursday, September 21, 2017

घर में खुशहाली  के लिए अपनाएं ये वास्तु शास्त्र उपाय  .... 

अंग्वाल संवाददाता
घर में खुशहाली  के लिए अपनाएं ये वास्तु शास्त्र उपाय  .... 

नई दिल्ली। सुख समद्धि के लिए परेशान लोग अक्सर कुछ न कुछ उपायों का प्रयोग करते ही रहते हैं। साथ ही इन उपायों को अपनाने के चलते बड़ी मात्रा में पैसे को खर्च कर बैठते, लेकिन यह सब करने के बाद भी बस निराशा ही हाथ आती है। अगर आप भी किसी ऐसी ही परेशानी में हैं तो घबराइए मत हम आपके परेशानी का समाधान ढूंढकर लाएं हैं। गृह कलेश से मुक्ति, आमदनी में बढ़ोत्तरी, ऐश्वर्य पाने के लिए आज हम आपको वास्तु शास्त्र के अनुसार कुछ ऐसे उपायों बताएंगे जिनसे आप आर्कषक फायदे होंगे। तो आइए जानते हैं उन उपायों के बारे...

दरवाजे से नहीं आनी चाहिए आवाज 

 

दरवाजा सकारात्मक ऊर्जा का केंद्र होता है इस ध्यान रखें कि दरवाजे को खोलते और बंद करते समय आवाज का आने अशुभ माना जाता है। 

झुका नहीं होना चाहिए दरवाजा

 

 

वास्तु शास्त्र के अनुसार अगर घर का दरवाजा झुका हो तो घर में परेशानी बनी होती है, जबकि बाहर की ओर झुका होने पर घर का दरवाजे बाहर होने की तरफ घर का मालिक हमेशा बाहर ही रहता है। इसलिए दरवाजे को संतुलित रखें। 

उल्टा न खुले दरवाजा 

 


दरवाजा खोलने के समय दरवाजा हमेशा घर के अंदर की ओर ही खुलना चाहिए। इसके उल्टे खुलने से घर में रोग और खर्च में बढ़ोत्तरी होती है। 

रगड़ नहीं खाना चाहिए दरवाजा 

 

दरवाजे खोलते समय रगड़ खाने से वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में आर्थिक दिक्कतें आती है और साथ ही पैसे कमाने के लिए आधिक मेहनत करनी पड़ती है। 

घर के बीचो बीच न हो दरवाजा 

 

घर का दरवाजा बीचो बीच नहीं होना चाहिए। घर का मुख्य दरवाजा हमेशा एक तरफ होना चाहिए। दरवाजा बीचो बीच होने से घर में विवाद, शोक और हानि होते हैं। साथ ही साथ महिलाओं को काफी कष्ट का समाना करना पड़ता है। 

अपने आप खुलने बंद होने वाले दरवाजा  

 

अगर आपके घर का दरवाजा अपने आप खुलता है तो आपको मानसिक परेशानी और मतिभ्रम पैदा होता है और अपने आप बंद होता है तो कुल का नाश हो सकता है।      

Todays Beets: