Monday, November 20, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

कांग्रेस-सपा के MLA और MLC का रुख भाजपा की ओर, पार्टियां कह रही-भाजपा साजिश के तहत तोड़ रहे उनके विधायक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कांग्रेस-सपा के MLA और MLC का रुख भाजपा की ओर, पार्टियां कह रही-भाजपा साजिश के तहत तोड़ रहे उनके विधायक

नई दिल्ली/ लखनऊ/ अहमदाबाद । देश की मौजूदा राजनीति में इन दिनों भाजपा का जलवा सिर चढ़कर बोल रहा है। कई राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में शानदार प्रदर्शन करने के बाद अब भाजपा बिहार में भी अपने गठबंधन की सरकार बना चुकी है और निशाने पर एक बार फिर गुजरात विधानसभा चुनाव हैं। इस सब के बीच दूसरे दलों के नेताओं ने भाजपा की ओर अपना रुख करना शुरू कर दिया है। शुक्रवार को गुजरात कांग्रेस के कई विधायक भाजपा में शामिल हुए तो शनिवार को यूपी में सपा के तीन MLC ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। इनके भाजपा में आने की संभावना जताई जा रही है। हालांकि यूपी में जहां सपा नेता अखिलेश यादव ने भाजपा पर अपने MLC को तोड़ने का आरोप लगाया है वहीं गुजरात कांग्रेस अपने विधायकों के टूटने के डर से उन्हें लेकर बेंगलुरु चली गई है। आरोप गुजरात कांग्रेस ने भी वही लगाए हैं कि भाजपा उनके विधायकों को पैसे और चुनाव का टिकट देने का लालच देकर तोड़ने की साजिश रच रही है। वहीं बसपा विधायक जयवीर सिंह ने भी पार्टी को इस्तीफा दे दिया है। संभावना है कि वह भी भाजपा में शामिल हो सकते हैं।

ये भी पढ़ें- गुजरात कांग्रेस में हड़कंप, 6 विधायकों के इस्तीफे के बाद पार्टी ने 40 विधायकों को भेजा बेंगलुरू

बिहार में एनडीए सरकार के बाद रुख तेज

पिछले दिनों बिहार की राजनीति में आए भूचाल के बाद जहां 16 घंटे के भीतर भाजपा के खिलाफ बने गठबंधन की सरकार गिर गई और एकाएक एनडीए की सरकार बन गई, उसके बाद राजनीतिक दल अपने MLA और MLC को टूटने से बचाने की जुगत में लग गई है। गुजरात कांग्रेस के कुछ विधायकों के भाजपा में शामिल होने के बाद कांग्रेस ने आरोप लगाए कि भाजपा साजिश रचते हुए उनके विधायकों को तोड़ रही है। वहीं शनिवार को सपा को कुछ ऐसा ही झटका लगा। समाजवादी पार्टी से विधान परिषद सदस्य (MLC)बुक्कल नवाब के साथ ही यशवंत सिंह व मधुकर जेटली ने इस्तीफा दे दिया है। तीनों का इस्तीफा विधान परिषद के सभापति रमेश यादव के पास पहुंचा है। वहीं बाद में खबर आई कि बसपा विधायक जयवीर सिंह ने भी पार्टी से इस्तीफा दे दिया है।इस दौरान सपा नेता बुक्कल नवाब ने कहा कि पिछले एक साल से उनका सपा में दम घुट रहा था। उन्होंने अयोध्या में ही राम मंदिर बनाए जाने का एक बार फिर पुरजोर समर्थन करते हुए कहा कि अगर हमें भाजपा नेता बुलाएंगे तो जरूर जाएंगे।

ये भी पढ़ें- ...अगर ऐसा हुआ तो घाटी में तिरंगे को कांधा देने वाला कोई नहीं रह जाएगा - महबूबा मुफ्ती

भाजपा पर हमलावर हुए दल


बता दें कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह तीन दिन के लिए लखनऊ दौरे पर हैं। इस बीच ऐसा माना जा रहा है कि उनकी मौजूदगी में तीनों नेता एक और एमएलसी व तीन विधायक भाजपा में शामिल हो जाएंगे। इन सभी नेताओं के भाजपा में शामिल होने की अटकलें तेज हैं। इस सब पर अखिलेश यादव ने भाजपा पर जमकर हल्ला बोलते हुए कहा कि भाजपा दूसरे दलों के नेताओं को तोड़ने की साजिश रच रही है। भाजपा में जनता के साथ जाने की हिम्मत नहीं है। भाजपा को राजनीतिक भ्रष्टाचार का जवाब देना होगा।

ये भी पढ़ें- भारतीय सेना के पास गोला-बारूद ही नहीं 52 हजार जवानों और अफसरों की भी भारी कमी

गुजरात कांग्रेस विधायकों को लेकर बेंगलुरू पहुंची

कांग्रेसी विधायक दो दलों में शुक्रवार देर रात अहमदाबाद से बेंगलुरू पहुंचे। इसके बाद राजकोट से 9 विधायक भी शनिवार सुबह 5 बजे बेंगलुरू पहुंच गए। कांग्रेस के एक विधायक के मुताबिक कांग्रेस को तोड़ने के अपने गेम प्लान में बीजेपी सफल न हो पाए, इसके लिए पार्टी के विधायकों को बंगलुरु भेजा गया है। विधायक ने कहा कि कांग्रेस के विधायकों को बीजेपी पैसे और पुलिसिया दबाव आदि के द्वारा तोड़ने का प्रयास कर रही है।

ये भी पढ़ें- दहेज प्रताड़ना मामलों में अब पति और ससुराल पक्ष के लोगों की तत्काल गिरफ्तारी नहीं, सुप्रीम कोर्ट ने जारी किए दिशानिर्देश

Todays Beets: