Sunday, December 16, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

वजन कम करने और चेहरे को चमकाने के चक्कर में न लें डिटाॅक्स डाइट, हो सकता है भारी नुकसान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
वजन कम करने और चेहरे को चमकाने के चक्कर में न लें डिटाॅक्स डाइट, हो सकता है भारी नुकसान

नई दिल्ली। अक्सर लोग अपने मोटापे को कम करने, चेहरे और बालो को चमकदार बनाने के लिए कई तरह के उपाय करते हैं। इनमें डिटाॅक्स डाइट भी शामिल है लेकिन क्या आपको पता है कि ज्यादा डिटाॅक्स करना काफी हानिकारक साबित हो सकता है। यहां बता दें कि वजन को कम करने के लिए लोग खाना छोड़कर कुछ समय तक लगातार लिक्विड डाइट लेना शुरू कर देते हैं इसे अगर सही तरीके से नहीं लिया जाए तो आपको फायदा करने की जगह नुकसान पहुंचाना शुरू कर देता है जो जानलेवा भी साबित हो सकता है। गौरतलब है कि मर्सी मेडिकल सेंटर के डॉक्टर सुजैन बेसर और नॉर्थ वेस्टर्न यूनिवर्सिटी के डॉक्टर लॉरेन का कहना है कि डिटॉक्सिंग के कई साइट इफेक्ट हैं।  डिटॉक्सिंग डाइट और खासकर कोलोनिक्स से डिहाइड्रेशन, यहां तक कि किडनी तक खराब हो सकती है। 

ये हैं डिटॉक्सिफिकेशन के कई तरीके

अधिकतर सेलिब्रिटीज फिट रहने के लिए लेमेन डिटॉक्स डाइट लेना पसंद करते हैं। 10 दिन की इस डाइट में खाने की जगह लेमन जूस, वॉटर, सेइन पीपर और मैपे सीरप लेते हैं  इससे शरीर के टॉक्सिन बाहर निकलते हैं, वजन कम होता है चेहरा और बाल चमकते हैं। 

एप्पल साइडर वेनेगर में डिटॉक्स के तरीके में 3 दिन तक केवल खाने से पहले दो चम्मच एप्पल साइडर वेनेगर को पानी में गोलकर पिया जाता है। इससे लोगों को भूख कम लगती है।  इसके अलावा कच्चा खाने वाली डिटॉक्स डाइट में केले, नट्स, बीज, सूखे मेवे नारियल एवोकेडो ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल किया जाता है।  

ये भी पढ़ें - सुबह की जगह रात को नहाने के हैं कई फायदे, जानेंगे तो आप भी शुरू करेंगे नहाना

कोलोनिक्स

बड़ी आंत अर्थात कोलोन शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है। बड़ी आंत के अस्तर से निकलने वाला श्लेष्मा मल को आगे जाने के लिए चिकना बनाता है। कोलोन से टॉक्सिक पदार्थ निकालने वाले तरीकों में कॉफी एनिमा शामिल है। इससे किडनी और लीवर के टॉक्सिक बाहर निकलते हैं।


लैक्साटिव्स

इस तरीके में एक चबाई जा सकने वाली गोली खिलाई जाती है जो मल को पतला करती है और आंत की गति को बढ़ाती है।

लंबे समय तक लेने से कोई फायदा

यहां बता दें कि मर्सी मेडिकल सेंटर के डॉक्टर सुजैन का कहना है कि कब्ज की स्थिति में डॉक्टर्स कोलोनिक्स को लेने की सलाह देते हैं लेकिन अधिकतर लोग कोलोन को क्लींज करने के लिए इन डिटॉक्स तरीकों का इस्तेमाल करने लगे हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि लंबे समय तक डिटाॅक्स डाइट लेने से कोई फायदा नहीं होता है। 

डिटॉक्सिफिकेशन हो सकती है खतरनाक

डॉक्टर सुजैन के अनुसार लैक्साटिव्स दूसरी डिटॉक्स डाइट से ज्यादा खतरनाक है। इसमें आंतों की गतिशीलता को बढ़ाया जाता है। इससे डायरिया, चक्कर आना, किडनी का खराब होना और कमजोरी जैसे दुष्परिणाम हो सकते हैं। कॉफी एनिमा की बात करें तो जिसमें गर्म कॉफी आंत में इंजेक्ट की जाती है इससे आंते खराब हो सकती है आंतों में छेद भी हो सकते हैं। 

Todays Beets: