Wednesday, October 24, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

दिन में कई बार चाय पीने वाले हो जाएं सावधान, दांत और हड्डियां हो सकते हैं कमजोर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दिन में कई बार चाय पीने वाले हो जाएं सावधान, दांत और हड्डियां हो सकते हैं कमजोर

नई दिल्ली। अपने काम के दौरान या फिर दफ्तरों में कई बार चाय की चुस्कियां लेने वाले सावधान हो जाएं। एक दिन में कई बार चाय पीने से आपके दांत और आपकी हड्डियां कमजोर हो सकती है। हाल ही में एक चाय कंपनी द्वारा किए गए शोध में इस बात का खुलासा हुआ है टी बैग में काफी मात्रा में फ्लूरायड पाया जाता है जो दांतों और हड्डियों को नुकसान पहुंचाता है। इस शोध में यह भी कहा गया है कि फ्लूरायड की मात्रा सस्ती चाय में ज्यादा होती है जबकि उच्च गुणवत्ता वाली चाय में फ्लूरायड की मात्रा नियंत्रित रहती है। 

गौरतलब है कि अक्सर ऐसा देखा जाता है कि कई लोगों की ऐसी आदत होती है कि दफ्तर में या फिर कोई अन्य काम करने के दौरान कई बार सड़कों पर मौजूद दुकानों से चाय पीते हैं। इन लोगों को अब सावधान हो जाना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से उन्हें फ्लूरोसिस नाम की बीमारी हो सकती है। इस बीमारी में इंसान के दांत और हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि टी बैग में अधिक मात्रा में फ्लूरॉयड होता है, जो दांतों और हड्डियों के लिए हानिकारक हो सकता है।

ये भी पढ़ें - पान मुंह के जायके को बदलने के साथ कई बीमारियों में भी देता है राहत 


अध्ययन में विशेषज्ञों ने कहा कि सस्ती चाय एक साल पुरानी पत्तियों से बनाई जाती है, जिसके कारण इसमें मिनरल अधिक मात्रा में होते हैं। इस शोध में कहा गया है कि अधिक मात्रा में फ्लूरॉयड के शरीर में पहुंचने से स्केलेटल फ्लूरोसिस की आशंका रहती है। इसमें जोड़ों में कैल्शियम जमने लगता है वे अकड़ जाते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी प्रतिदिन छह मिलीग्राम से अधिक मात्रा में फ्लूरॉयड शरीर में पहुंचने पर स्केलेटल फ्लूरोसिस होने की आशंका जताई है। इस हिसाब से देखा जाए तो एक दिन में चार कप से अधिक चाय पीना सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है।

 

 

Todays Beets: