Saturday, November 25, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

चिली को मात देकर पहली बार जर्मनी ने FIFA कॉन्फेडरेशन कप को जीता

अंग्वाल संवाददाता
चिली को मात देकर पहली बार जर्मनी ने FIFA कॉन्फेडरेशन कप को जीता

जर्मनी ने रविवार को रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में खेले गए कॉन्फेडरेशन कप के फाइनल मुकाबले में चिली को 1-0 के अंतर से मात देकर पहली बार कॉन्फेडरेशन कप अपने नाम किया। मुकाबले के दौरान सबसे खास बात यह रही कि जर्मनी टीम के फुटबॉलर लार्स स्टिंडल ने पहले हाफ में यह गोल किया। चिली की टीम के मिडफीस्डर मार्सेलो डियाज की गलती का खामियाजा टीम को भारी पड़ी। डियाज ने अपने ही गोल के पास गलती करते हुए गेंद लार्स स्टिंडल को थमा दी, जिसके बाद उन्होंने चिली पर 20वें मिनट में ही गोल दाग दिया। हालांकि चिली फुटबॉल टीम अपने चिरपरिचित अंदाज में जर्मन की टीम पर आक्रमण करती रही, लेकिन मैच में वापसी नहीं कर सकी। 

यह भी पढ़े -  मोदी की चाय की दुकान बनेगी टूरिस्ट प्लेस, वडनगर स्टेशन को किया जाएगा पर्यटन स्थल के रूप में विकसित

आपको बता दें कि जर्मनी ने अब तक चार बार विश्वकप (1954, 1974, 1990, 2014) और तीन बार यूएफा कप (1972, 1980, 1996 ) खिताब जीता है, लेकिन जर्मीनी की कॉन्फेडेरेशन कप जीतने की इच्छा रविवार को पूराी हुई। 


यह भी पढ़ेदो हफ्ते में बताए महाराष्ट्र सरकार, संजय दत्त को क्यों जेल से जल्दी रिहा किया - हाईकोर्ट

मैच के बाद टूर्नामेंट का मैन ऑप दा मैच चुने जाने पर 'गोल्डन बॉल' हासिल करने वाले जर्मन कप्तान जूलियन ड्रैक्सलर ने कहा, 'अविश्वसनीय. हमने अच्छी तरह मुकाबला किया और इस जीत के हकदार थे। हम इस टूर्नामेंट से पहले साथ में नहीं खेले थे जिससे यह जीत और महत्वपूर्ण बन जाती है।'

वहीं टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ गोलकीपर चुने गए चिली के कप्तान क्लाउडियो ब्रावो ने खिताब के करीब आने के बाद भी इससे चूक जाने पर कहा, 'दोनों टीमों में बेहद कम अंतर था। हमें दुख है कि हम जीत नहीं पाए लेकिन हम एक विश्वस्तरीय टीम के खिलाफ खेले। हमें अपनी गलतियों से सबक लेना होगा। 

Todays Beets: