Thursday, September 21, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

शास्त्री को कोच बनाने पर सचिन-गांगूली-लक्ष्मण पर उठने लगे सवाल, पूर्व कोच संदीप पाटिल भी बोले-इन्हें नहीं देना था कोच चुनने का अधिकार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
शास्त्री को कोच बनाने पर सचिन-गांगूली-लक्ष्मण पर उठने लगे सवाल, पूर्व कोच संदीप पाटिल भी बोले-इन्हें नहीं देना था कोच चुनने का अधिकार

नई दिल्ली । भारतीय क्रिकेट टीम के नए मुख्य कोच के रूप में सलाहकार समिति (सीएसी) ने रवि शास्त्री को चुन लिया है। खबरें आईं कि समति के सदस्य सचिन तेंदुलकर और टीम इंडिया के कप्तान शास्त्री को कोच बनाने के पक्ष में पहले से थे, लेकिन अब सीएसी के शास्त्री के नाम पर मुहर लगाए जाने पर सवाल उठने लगे हैं। आम जनता के साथ ही अब टीम के पूर्व कोच संदीप पाटिल ने यह सवाल उठाए हैं। पाटिल ने तल्ख लहजे में कहा कि सलाहाकार समिति के तीनों सदस्यों, सचिन तेंदुलकर, वीवीएस लक्ष्मण और सौरभ गांगूली को मुख्य कोच चुनने का अधिकार नहीं दिया जाना चाहिए क्योंकि उन्होंने कभी खुद किसी टीम को कोच नहीं किया है।

ये भी पढ़ें- 'क्रिकेट धर्म' की 'देवी' बनी मिताली राज, विश्व महिला क्रिकेट में 6 हजार रन बनाने वाली अकेली खिलाड़ी

क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) पर निशाना साधते हुए पाटिल ने तीनो दिग्गज खिलाड़ियों की भूमिका पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि सचिन, लक्ष्मण और गांगूली लिजेंड खिलाड़ियों में शुमार हैं। उन्होंने क्रिकेट में बतौर खिलाड़ी पूरी दुनिया में अपना दबदबा बनाया है। उनका लौहा पूरी दुनिया ने माना है लेकिन इन तीनों में से किसी ने कभी भी कोच के तौर पर कभी काम नहीं किया है। 

ये भी पढ़ें- पुरस्कार में 10 हजार रुपये दिए जाने पर राष्ट्रीय महिला खिलाड़ी नेे जताई नाराजगी, कहा पुरुष खि...


उन्होंने इस दौरान कुछ मिसाल देते हुए कहा कि क्या कोई कोच किसी अंपायर को  सेलेक्ट कर सकता है। या कोई अंपायर किसी कोच का चुनाव कर सकता है। शायद नहीं इसी तरह इन तीनों दिग्गज खिलाड़ियों द्वारा किसी कोच का चुनाव किया जाना भी ठीक नहीं है। 

ये भी पढ़ें- सचिन ने लक्ष्मण को शास्त्री के नाम पर मनाया, लेकिन दादा ने चली ऐसी चाल की शास्त्री के हाथ में...

पाटिल ने कहा- मैंने और शास्त्री ने एक साथ क्रिकेट खेला है। हमने काफी समय साथ बिताया है। मैं उनके स्वभाव को अच्छी तरह से जानता हूं। मुझे नहीं लगता कि शास्त्री के लिए कोच का पद सही है। उन्हें या तो टीम का डायरेक्टर बनाया जाता या टीम का मेंटॉर। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कोच के नाम का ऐलान करने के लिए जो ड्रामा हुआ वो भी सही नहीं था। नाम का ऐलान मंगलवार की जगह सोमवार को ही कर देना चाहिए था। 

Todays Beets: