Sunday, February 17, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

स्वामी सानंद के निधन के बाद एक और संत बैठे अनशन पर, पुलिस ने एम्स में भर्ती कराया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
स्वामी सानंद के निधन के बाद एक और संत बैठे अनशन पर, पुलिस ने एम्स में भर्ती कराया

देहरादून। गंगा की अविरलता और सफाई को लेकर अपने प्राण त्यागने वाले स्वामी ज्ञानस्वरूप् सानंद के बाद अब एक और संत अनशन पर बैठ गए हैं। मातृसदन में अनशन पर बैठे गोपालदास को देर रात करीब 2 बजे ऋषिकेश के एम्स में भर्ती करा दिया गया है। गोपालदास के स्वास्थ्य की जांच करने आश्रम पहुंचे डाॅक्टरांे की टीम ने बताया कि खराब स्वास्थ्य की वजह से ही उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। खबरों के अनुसार ये भी करीब 111 दिनों से राज्य के अलग-अलग स्थानों पर अनशन कर रहे थे। 

गौरतलब है कि शुक्रवार को ही गोपालदास हरिद्वार पहुंचे थे। उनके अनशन के बारे मंे सूचना मिलते ही पुलिस मातृसदन में पहुंच गई। पहले तो उन्होंने अनशन तुड़वाने की कोशिश की लेकिन नहीं मानने पर उन्हें देर रात एम्स में भर्ती करा दिया गया। बता दें कि पिछले दिनों ही एम्स में स्वामी सानंद का निधन हो गया था। उनकी मौत को स्वामी शिवानंद ने हत्या करार देते हुए केंद्रीय मंत्री और जिला प्रशासन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार करने की मांग की थी। 

ये भी पढ़ें - जौनसार बावर क्षेत्र में हुआ सड़क हादसा, यूटिलिटी वैन के गहरी खाई में गिरने से 2 की मौत 2 घायल


यहां बता दें कि जलपुरुष राजेंद्र सिंह और जानेमाने पर्यावरणविद रवि चोपड़ा ने बताया कि गोपालदास पहले बद्रीनाथ, जोशीमठ और फिर ऋषिकेश में आमरण अनशन किया। अनशन की शुरुआत उन्होंने 24 जून को की थी और 3 दिनों पहले उन्होंने जल का भी त्याग कर दिया है। बाद में उनके अनुरोध पर जल ग्रहण कर लिया था। उन्होंने कहा कि उनका अनशन स्वामी सानंद के अनशन के समर्थन में है और अब वह मातृसदन में ही रहकर उसी कमरे में अनशन करेंगे जहां स्वामी सानंद ने अनशन किया था। 

Todays Beets: