Friday, December 14, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

स्वामी सानंद के निधन के बाद एक और संत बैठे अनशन पर, पुलिस ने एम्स में भर्ती कराया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
स्वामी सानंद के निधन के बाद एक और संत बैठे अनशन पर, पुलिस ने एम्स में भर्ती कराया

देहरादून। गंगा की अविरलता और सफाई को लेकर अपने प्राण त्यागने वाले स्वामी ज्ञानस्वरूप् सानंद के बाद अब एक और संत अनशन पर बैठ गए हैं। मातृसदन में अनशन पर बैठे गोपालदास को देर रात करीब 2 बजे ऋषिकेश के एम्स में भर्ती करा दिया गया है। गोपालदास के स्वास्थ्य की जांच करने आश्रम पहुंचे डाॅक्टरांे की टीम ने बताया कि खराब स्वास्थ्य की वजह से ही उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। खबरों के अनुसार ये भी करीब 111 दिनों से राज्य के अलग-अलग स्थानों पर अनशन कर रहे थे। 

गौरतलब है कि शुक्रवार को ही गोपालदास हरिद्वार पहुंचे थे। उनके अनशन के बारे मंे सूचना मिलते ही पुलिस मातृसदन में पहुंच गई। पहले तो उन्होंने अनशन तुड़वाने की कोशिश की लेकिन नहीं मानने पर उन्हें देर रात एम्स में भर्ती करा दिया गया। बता दें कि पिछले दिनों ही एम्स में स्वामी सानंद का निधन हो गया था। उनकी मौत को स्वामी शिवानंद ने हत्या करार देते हुए केंद्रीय मंत्री और जिला प्रशासन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार करने की मांग की थी। 

ये भी पढ़ें - जौनसार बावर क्षेत्र में हुआ सड़क हादसा, यूटिलिटी वैन के गहरी खाई में गिरने से 2 की मौत 2 घायल


यहां बता दें कि जलपुरुष राजेंद्र सिंह और जानेमाने पर्यावरणविद रवि चोपड़ा ने बताया कि गोपालदास पहले बद्रीनाथ, जोशीमठ और फिर ऋषिकेश में आमरण अनशन किया। अनशन की शुरुआत उन्होंने 24 जून को की थी और 3 दिनों पहले उन्होंने जल का भी त्याग कर दिया है। बाद में उनके अनुरोध पर जल ग्रहण कर लिया था। उन्होंने कहा कि उनका अनशन स्वामी सानंद के अनशन के समर्थन में है और अब वह मातृसदन में ही रहकर उसी कमरे में अनशन करेंगे जहां स्वामी सानंद ने अनशन किया था। 

Todays Beets: