Monday, September 24, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

अब सचिवालय में आने वालों का बनेगा आॅनलाइन पास, नहीं करना पड़ेगा घंटों इंतजार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अब सचिवालय में आने वालों का बनेगा आॅनलाइन पास, नहीं करना पड़ेगा घंटों इंतजार

देहरादून। उत्तराखंड सचिवालय और विधानसभा में आने वालों को अपने पास के लिए घंटों इंतजार नहीं करना पड़ेगा। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बुधवार को सचिवालय में प्रवेश के लिए ई-गेट पास सिस्टम का शुभारंभ किया है। सचिवालय/विधान सभा में वर्तमान पास व्यवस्था के साथ-साथ ई-पास व्यवस्था लागू की गयी है। यह व्यवस्था शुरू होने से सचिवालय और विधानसभा में मिलने के लिए आने वाले कहीं भी और कभी भी अपना पास बनवा सकते हैं। इसके लिए पहले से पंजीकरण करवाया जा सकता है।

गौरतलब है कि इस व्यवस्था के शुरू होने से बाहर से आने वालों की पहचान आसानी से की जा सकेगी। इससे गेट पास में  शुद्धता( ।बबनंतबल), ज्यादा साफ फोटोग्राफ तथा एम.आई.एस. रिकाॅर्डिंग सुनिश्चित हो पाएगी। 

ये भी पढ़ें - उत्तराखंड के बागेश्वर जिले में हो रही पत्थरों की बरसात, लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया


ई-पास व्यवस्था की प्रक्रिया

ई-पास बनवाने के लिए आगंतुक अधिकारी से मिलने के लिए गेट पास के लिए eGatepass&uk.in पर आॅनलाईन पंजीकरण कर सकते हैं। एक बार आवेदन करने के बाद उसे संबंधित कार्यालय को स्वीकार/अस्वीकार के लिए भेजा जाएगा। एक बार आवेदन स्वीकार होने पर आगन्तुक को उनके उनके मोबाइल एवं ई-मेल पर एक ओ.टी.पी. भेजा जाएगा जिसे भरकर गेटपास के बूथ पर गेटपास प्रिंट प्राप्त किया जा सकता है। मिलने वाले गेटपास एप पर भी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। यहां बता दें कि इंफाॅरमेशन टेक्नोलाॅजी डेवलपमेंट एजेंसी(आई.टी.डी.ए.) के निदेशक अमित सिन्हा ने बताया कि ई-पास सिस्टम के सम्बन्ध में आई.टी.डी.ए. के माध्यम से साॅफ्टवेयर तैयार किया गया है तथा गेट पास बूथ से गेट पास हेतु कम्प्यूटर भी स्थापित कर दिया गया है जिसका संचालन सुरक्षाकर्मिकों के द्वारा किया जा रहा है। साथ ही ई-गेट पास सुविधा के सम्बन्ध में आई.टी.डी.ए. के माध्यम से सचिवालय/विधान सभा में तैनात 92 निजी सचिवों को व्यवहारिक प्रशिक्षण भी दिया जा चुका है।

Todays Beets: