Saturday, December 15, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

अब सचिवालय में आने वालों का बनेगा आॅनलाइन पास, नहीं करना पड़ेगा घंटों इंतजार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अब सचिवालय में आने वालों का बनेगा आॅनलाइन पास, नहीं करना पड़ेगा घंटों इंतजार

देहरादून। उत्तराखंड सचिवालय और विधानसभा में आने वालों को अपने पास के लिए घंटों इंतजार नहीं करना पड़ेगा। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बुधवार को सचिवालय में प्रवेश के लिए ई-गेट पास सिस्टम का शुभारंभ किया है। सचिवालय/विधान सभा में वर्तमान पास व्यवस्था के साथ-साथ ई-पास व्यवस्था लागू की गयी है। यह व्यवस्था शुरू होने से सचिवालय और विधानसभा में मिलने के लिए आने वाले कहीं भी और कभी भी अपना पास बनवा सकते हैं। इसके लिए पहले से पंजीकरण करवाया जा सकता है।

गौरतलब है कि इस व्यवस्था के शुरू होने से बाहर से आने वालों की पहचान आसानी से की जा सकेगी। इससे गेट पास में  शुद्धता( ।बबनंतबल), ज्यादा साफ फोटोग्राफ तथा एम.आई.एस. रिकाॅर्डिंग सुनिश्चित हो पाएगी। 

ये भी पढ़ें - उत्तराखंड के बागेश्वर जिले में हो रही पत्थरों की बरसात, लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया


ई-पास व्यवस्था की प्रक्रिया

ई-पास बनवाने के लिए आगंतुक अधिकारी से मिलने के लिए गेट पास के लिए eGatepass&uk.in पर आॅनलाईन पंजीकरण कर सकते हैं। एक बार आवेदन करने के बाद उसे संबंधित कार्यालय को स्वीकार/अस्वीकार के लिए भेजा जाएगा। एक बार आवेदन स्वीकार होने पर आगन्तुक को उनके उनके मोबाइल एवं ई-मेल पर एक ओ.टी.पी. भेजा जाएगा जिसे भरकर गेटपास के बूथ पर गेटपास प्रिंट प्राप्त किया जा सकता है। मिलने वाले गेटपास एप पर भी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। यहां बता दें कि इंफाॅरमेशन टेक्नोलाॅजी डेवलपमेंट एजेंसी(आई.टी.डी.ए.) के निदेशक अमित सिन्हा ने बताया कि ई-पास सिस्टम के सम्बन्ध में आई.टी.डी.ए. के माध्यम से साॅफ्टवेयर तैयार किया गया है तथा गेट पास बूथ से गेट पास हेतु कम्प्यूटर भी स्थापित कर दिया गया है जिसका संचालन सुरक्षाकर्मिकों के द्वारा किया जा रहा है। साथ ही ई-गेट पास सुविधा के सम्बन्ध में आई.टी.डी.ए. के माध्यम से सचिवालय/विधान सभा में तैनात 92 निजी सचिवों को व्यवहारिक प्रशिक्षण भी दिया जा चुका है।

Todays Beets: