Tuesday, January 22, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

सरकारी नीतियों पर कांग्रेस हुई हमलावर, राज्यपाल से की बर्खास्त करने की मांग

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सरकारी नीतियों पर कांग्रेस हुई हमलावर, राज्यपाल से की बर्खास्त करने की मांग

देहरादून। राज्य सरकार द्वारा लागू की गई आबकारी नीति का कांग्रेस ने जमकर विरोध किया है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने मंगलवार को सरकार पर आरोप लगाया कि यह जीरो टाॅलरेंस की नहीं बल्कि ‘अंडर टेबल’ सरकार है। उन्होंने राज्यपाल से सरकार को बर्खास्त करने की मांग की है। प्रीतम सिंह ने कहा कि प्रदेश की कानून व्यवस्था चैपट हो चुकी है। खुले आम बैंक-पेट्रोल पम्प लूटे जा रहे हैं। आबकारी नीति माफिया को लाभ पहुंचाने के लिए बार-बार बदली जा रही है। 

ये भी पढ़ें - पीसीएस परीक्षा की तैयारी करने वालों को ‘सी-सैट’ करना होगा क्वालिफाई, सरकार की मंजूरी का इंतजार

गौरतलब है कि प्रीतम सिंह ने सरकार पर आरोप लगाया कि सत्ता में आने के बाद से माफिया को फायदा देने के लिए सरकार के द्वारा लगातार नियम बदली जा रही है। यही हाल खनन नीति का भी है मेडिकल फीस मामले में सरकार ने निजी विश्वविद्यालयों को फीस तय करने का अधिकार दे दिया। छात्रों द्वारा आंदोलन पर उतरने के बाद अब सरकार ने उसे खुद से तय करने का निर्णय लिया है। 


यहां बता दें कि प्रीतम सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि छात्रों के दवाब में फीस बढ़ोतरी का निर्णय वापस तो ले लिया लेकिन विधान सभा में पारित किए गए विधेयक को समाप्त करने के लिए अध्यादेश तक नहीं लाया गया है। सरकार द्वारा फैसले ले लिए जाते हैं फिर उसे रोलबैक किया जाता है। यह भी संवैधानिक संकट की स्थिति से कम नहीं है। प्रीतम सिंह ने कहा कि सरकार खुद को जीरो टाॅलरेंस वाली सरकार बताते हुए नहीं थकती है लेकिन यहां बिलकुल इसका उल्टा हो रहा है। ऐसे में कांग्रेस ने राज्यपाल से सरकार को जल्द बर्खास्त करने की मांग की है।  

Todays Beets: