Thursday, May 23, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

पिता के अफेयर से नाराज बेटे ने शूटर से करवाई समरजहां की हत्या , 4 लाख रुपये में मुजफ्फरनगर से लाया था बदमाश को

अंग्वाल संवाददाता
पिता के अफेयर से नाराज बेटे ने शूटर से करवाई समरजहां की हत्या , 4 लाख रुपये में मुजफ्फरनगर से लाया था बदमाश को

देहरादून । आखिरकार देहरादून पुलिस ने बहुचर्चित समरजहां हत्याकांड पर से पर्दा हटा दिया है । पुलिस ने हत्याकांड में दवा व्यापारी राकेश गुप्ता की पत्नी सीमा और बेटे कार्तिक द्वारा हत्या की साजिश का खुलासा किया है । एसएसपी निवेदिता कुकरेती का कहना है कि कार्तिक अपने पिता के अफेयर से काफी परेशान था । उसने अपनी मां का इशारे मिलने के बाद समरजहां को रास्ते से हटाने के लिए मुजफ्फरनगर के एक बदमाश मोमिन से संपर्क साधा , जिसने 4 लाख रुपये में कार्तिक को एक शूटर दिलवाया । इस शूटर को लेकर कार्तिक देहरादून आया और 7 मई की रात इस शूटर से समरजहां की गोली मारकर हत्या कर दी । हालांकि इस पूरे मामले में पुलिस को दवा व्यापारी राकेश गुप्ता की भी सहमति के संकेत मिल रहे हैं, लेकिन अभी इस बारे में कोई सबूत हाथ नहीं लगा है ।

सहस्त्रधारा रोड पर मारी गोली

एसएसपी ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि कार्तिक अपने साथ जिस शूटर को लेकर आया था, उसे कार्तिक ने समरजहां को उसके पिता द्वारा दिलाया गया फ्लैट के साथ बुटिक दिखाया, जहां वह रहती और अपना बुटिक चलाती थी । इस सब के बाद शूटर ने 7 मई को मौका देखकर सहस्त्रधारा रोड पर समरजहां की गोली मारकर हत्या कर दी ।

समरजहां को लेकर परिवार में हुए झगड़े

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक , दवा व्यापारी राकेश , समरजहां का मुजफ्फरनगर में तलाक होने के बाद उसे भी रुडकी ले आया था । वह हर मंगलवार उससे मिलने जाया करता और उसे रहने खाने-पीने के लिए मोटी रकम भी देता था । इसकी जानकारी परिवार को लगी तो घर में काफी हंगामा हुआ । परिवार में इस बात को लेकर काफी झगड़े भी होने लगे । अब परिवार को लगने लगा था कि समरजहां एक दिन उसकी प्रॉपर्टी पर भी दावा करने लगेगी।

गढ़वाल-कुमांऊ मंडल के जंगलों में धधकी आग से बढ़ी आफत , मां पूर्णागिरी धाम की पहाड़ी तक फैली आग

देहरादून में बुक करवाया 25 लाख का फ्लैट

इस सब हंगामे के बीच ही राकेश गुप्ता ने समरजहां को देहरादून में रखने का फैसला लिया और उसके लिए दून में ही एक 25 लाख रुपये का फ्लैट बुक कराया । इस पर भी काफी हंगामा हुआ, जिसे दबाने के लिए दवा व्यापारी ने अपने बेटे कार्तिक को भी देहरादून ले जाने का फैसला किया । उसने ऐसा इसलिए किया ताकि परिजनों को यह न लगे कि वह केवल समरजहां का ही ध्यान रख रहा है और अपने पत्नी बच्चों के बारे में उसे कोई चिंता नहीं है।


बद्रीनाथ धाम में पाया जाने वाला यह पौधा , जिसके गुणों को जानने के बाद वैज्ञानिकों ने दाबी दांतों तले अंगुलियां

समरजहां रेस्टोरेंट की कमाई में हिस्सा लेने लगी

जानकारी के मुताबिक , राकेश ने कुछ दिनों पहले ही देहरादून में एक रेस्टोरेंट और एक बुटीक खोला था। लेकिन समरजहां अपने बुटीक के साथ कार्तिक के लिए खोले गए रेस्टोरेंट से होने वाली कमाई में हिस्सा मांगने लगी । यहां तक कि वह कमाई को बांट भी लेती थी, जिसके चलते कार्तिक काफी परेशान रहने लगा था । इसके बाद राकेश गुप्ता की पत्नी ने समरजहां को रास्ते से हटाने का फैसला लिया । एसएसपी ने बताया कि सीमा गुप्ता की सहमति मिलने के बाद कार्तिक ने मोमिन निवासी मुजफ्फरनगर से संपर्क किया। मोमिन ने शूटर का बंदोबस्त किया और उसे लेकर 6 मई को देहरादून आया। यहां कार्तिक ने उसे समर जहां का फ्लैट और बुटीक भी दिखाया और उसके आने जाने की टाइमिंग भी बताई। इसके बाद सात मई की रात समर जहां की गोली मार कर हत्या कर दी गई।

उत्तराखंड में प्राचीन तीर्थ मार्गों की खोज शुरू , पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ रोजगार बढ़ाने की है योजना

पता होता तो बेटे का गला घोंट देता

इस घटनाक्रम पर राकेश गुप्ता का कहना है कि मामले में पुलिस मुझे बेमतलब घसीट रही है। मुझे उनकी साजिश के बारे में पता होता तो मैं खुद कार्तिक का गला घोंट देता । दवा व्यापारी का कहना है कि मैं समर जहां का ख्याल तो रख रहा था, लेकिन मेरा परिवार सड़क पर नहीं आया था।

शूटर की तलाश में दबिश

वहीं पुलिस अब इस मामले को खोलने के बाद मोमिन समेत शूटर की तलाश में जुटी हुई है । पुलिस का कहना है कि शूटर के बारे में काफी जानकारी हमें मिल गई है, जल्द ही उसकी गिरफ्तारी की सूचना दी जाएगी ।

 

Todays Beets: