Saturday, January 20, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

बोर्ड की परीक्षा देने वाले छात्रों को बड़ी राहत, उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद ने बदला परीक्षा का पैटर्न

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बोर्ड की परीक्षा देने वाले छात्रों को बड़ी राहत, उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद ने बदला परीक्षा का पैटर्न

देहरादून। अब 10वीं और 12वीं में पढ़ने वाले छात्रों को बहुत ज्यादा दवाब लेने की जरूरत नहीं होगी। उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद ने परीक्षा का पैटर्न बदलने की तयारी कर ली है। अब छात्रों को सीबीएसई की तर्ज पर बहुविकल्पीय सवालों के भी जवाब देने होंगे। बोर्ड का मानना है कि ऐसा होने से छात्रों पर मानसिक दवाब कम होगा। सभी स्कूलों को सैंपल पेपर भेज दिए गए हैं। अधिकारियों का मानना है कि बोर्ड के इस बदलाव से रामनगर बोर्ड का परीक्षा परिणाम और बेहतर होगा।

छात्रों को मिलेगी राहत

गौरतलब है कि 10वीं और 12वीं की परीक्षा के लिए छात्रों को दीर्घउत्तरीय सवालों का जवाब देने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है। इसके साथ ही पारिवारिक अपेक्षाओं पर खरा उतरना भी एक बड़ा मसला होता है। ऐसे में परीक्षा के तनाव में छात्रों के आत्महत्या करने की खबरें आने लगती हैं। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद ने अब इन परीक्षाओं के पैटर्न को सीबीएसई की तर्ज पर करने का फैसला लिया है। 

ये भी पढ़ें - सरकार ने तैयार किया उत्तराखंड के संपूर्ण विकास का नया रोडमैप, ट्रिपल ई-आई पर होगा काम


सीबीएसई की तर्ज पर होंगे सवाल

आपको बता दें कि गोविंद बल्लभ पंत इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य अजय शंकर कौशिक ने बताया कि नए परीक्षा पैटर्न के सैंपल पेपर विद्यालय में पहुंच गए हैं। उन्होंने अपने विद्यलाय में शिक्षकों को सैंपल पेपर उपलब्ध करा दिए हैं। बच्चों को आगामी बोर्ड परीक्षा की इन्हीं सैंपल पेपरों के आधार पर तैयारी कराई जा रही है। रामनगर बोर्ड के सचिव विनोद प्रसाद सिमल्टी ने बताया कि परीक्षा पैटर्न बदलाव का मुख्य मकसद बच्चों के ऊपर से बोर्ड परीक्षा का तनाव कम करना है। बहुविकल्पीय प्रश्नों से बोर्ड परीक्षार्थियों को पहले से ज्यादा राहत मिलेगी।

 

Todays Beets: