Tuesday, November 24, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

अलवर में महिला ने दिया 'प्लास्टिक बेबी' को जन्म , बच्चा देख स्टॉफ के उड़ गए होश

अंग्वाल संवाददाता
अलवर में महिला ने दिया

अलवर । राजस्थान के भरतपुर जिले के सीकरी निवासी एक महिला ने गत सोमवार अलवर के एक अस्पताल में दुर्लभ बीमारी से ग्रस्त बच्चे को जन्म दिया है। इस बीमारी से ग्रस्त बच्चों को कोलाडियन बेबी कहा जाता है, जो 3 लाख में से एक बच्चे हो होती है। इस बीमारी से ग्रस्त बच्चा एक प्लास्टिक जैसी परत के भीतर होता है, जिसे हटाने से शिशु के शरीर से खून निकलता है। बहरहाल, प्रसव पीड़ा होने के दौरान जैसे ही अस्पताल स्टॉफ ने इस महिला के नवजात को देखा तो वह खबरा गए। बच्चे के शरीर पर प्लास्टिक जैसी परत को जैसे ही हटाया गया, शिशु के शऱीर से खून निकलने लगा, हालांकि डॉक्टरों ने बाद में बच्चे को बचा लिया।

जानकारी के मुताबिक , भरतपुर निवासी सिमरन को प्रसव पीड़ा होने पर असवर के साहिल अस्पताल में भर्ती करवाया गया। प्रसव के दौरान नवजात ने जन्म लिया तो वह एक प्लास्टिक जैसी एक परत के भीतर था, उसे जैसे ही हटाया गया शिशु के शरीर से खून बहने लगा। यह सब देख अस्पताल का स्टाफ घबरा गया। 


आनन फानन में नवजात को जयपुर के जेके लोन अस्पताल में रेफर किया गया। डॉक्टरों ने बताया कि लाखों बच्चों में एक ऐसा केस होता है, जिसे प्लास्टिक बेबी कहा जाता है। अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि यह बच्चा कोलोडियोंन बीमारी से ग्रस्त है। य़ह एक प्रकार की आनुवांशिक बीमारी होती है जो समय से साथ ही ठीक होती है। बहरहाल, अस्पताल के डॉक्टरों ने बच्चे का इलाज शुरू कर दिया है, फिलहाल बच्चा खतरे से बाहर है।    

 

Todays Beets: