Saturday, July 20, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

अलवर में महिला ने दिया 'प्लास्टिक बेबी' को जन्म , बच्चा देख स्टॉफ के उड़ गए होश

अंग्वाल संवाददाता
अलवर में महिला ने दिया

अलवर । राजस्थान के भरतपुर जिले के सीकरी निवासी एक महिला ने गत सोमवार अलवर के एक अस्पताल में दुर्लभ बीमारी से ग्रस्त बच्चे को जन्म दिया है। इस बीमारी से ग्रस्त बच्चों को कोलाडियन बेबी कहा जाता है, जो 3 लाख में से एक बच्चे हो होती है। इस बीमारी से ग्रस्त बच्चा एक प्लास्टिक जैसी परत के भीतर होता है, जिसे हटाने से शिशु के शरीर से खून निकलता है। बहरहाल, प्रसव पीड़ा होने के दौरान जैसे ही अस्पताल स्टॉफ ने इस महिला के नवजात को देखा तो वह खबरा गए। बच्चे के शरीर पर प्लास्टिक जैसी परत को जैसे ही हटाया गया, शिशु के शऱीर से खून निकलने लगा, हालांकि डॉक्टरों ने बाद में बच्चे को बचा लिया।

जानकारी के मुताबिक , भरतपुर निवासी सिमरन को प्रसव पीड़ा होने पर असवर के साहिल अस्पताल में भर्ती करवाया गया। प्रसव के दौरान नवजात ने जन्म लिया तो वह एक प्लास्टिक जैसी एक परत के भीतर था, उसे जैसे ही हटाया गया शिशु के शरीर से खून बहने लगा। यह सब देख अस्पताल का स्टाफ घबरा गया। 


आनन फानन में नवजात को जयपुर के जेके लोन अस्पताल में रेफर किया गया। डॉक्टरों ने बताया कि लाखों बच्चों में एक ऐसा केस होता है, जिसे प्लास्टिक बेबी कहा जाता है। अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि यह बच्चा कोलोडियोंन बीमारी से ग्रस्त है। य़ह एक प्रकार की आनुवांशिक बीमारी होती है जो समय से साथ ही ठीक होती है। बहरहाल, अस्पताल के डॉक्टरों ने बच्चे का इलाज शुरू कर दिया है, फिलहाल बच्चा खतरे से बाहर है।    

 

Todays Beets: