Saturday, February 16, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

धूल भरी आंधी ने दिल्ली-एनसीआर के लोगों की बढ़ाई दिक्कतें, सांस लेने में हो रही परेशानी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
धूल भरी आंधी ने दिल्ली-एनसीआर के लोगों की बढ़ाई दिक्कतें, सांस लेने में हो रही परेशानी

नई दिल्ली। पिछले कई दिनों से दिल्ली एनसीआर में तेज हवाओं के साथ धूल भरी आंधी चल रही है। इससे लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत तो मिली पर प्रदूषण का स्तर काफी बढ़ गया है। ताजा खबरों के अनुसार आगामी दो दिनों तक वायु प्रदूषण के स्तर में बढ़ोतरी रहेगी। बारिश के बाद ही लोगों को इससे राहत मिलने के आसार हैं। दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है। मंगलवार की शाम को क्वालिटी इंडेक्स का स्तर 342 रिकार्ड किया गया जिसके बाद यह और बढ़ गया। वातावरण में धूल के कणों की सख्या अधिक होने से वाहन चालकों और सांस संबंधित मरिजों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

ये भी पढ़े-पीएम मोदी ने जारी किया अपना फिटनेस चैलेंज का वीडियो, एचडी कुमारस्वामी को किया नाॅमिनेट

यहां आपको बता दें कि मंगलवार को सुबह जहां क्वालिटी इंडेक्स में वातावरण में प्रदूषण का स्तर 263 रिकार्ड किया वहीं शाम को यह स्तर बढ़ कर 342 हो गया। इसमें पीएम-2.5 का स्तर 182, एनओटू का स्तर 53 व ओजोन का स्तर 39 रहा। बता दें कि मई से लेकर अब तक प्रदूषण का यह सबसे बड़ा स्तर है। इससे पहले दिसंबर 2017 मे एयर क्वालिटी इंडेक्स का स्तर 500 के करीब पहुंच गया था।


ये भी पढ़े-40 घंटे से LG दफ्तर में धरने पर बैठे केजरीवाल के मंत्री ने शुरू किया आमरण अनशन, डिप्टी सीएम भी कूदे

गौरतलब है कि राजस्थान की ओर से चली आ रही धूल भरी हवाएं इसका बड़ा कारण है। वहीं इस ओर से आने वाली हवाएं दो दिनों तक इसी तरह अपना असर दिखाएगी। मंगलवार की शाम को दिल्ली एनसीआर में इसका प्रभाव देखा गया। मानको के अनुसार यह आंकड़ा स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक है। वहीं मौसम विभाग की मानें तो तेज धूप व हवा चलने से यह कण वापस वातावरण में जमा होने लगे हैं। ऐसे में वाहन चलाने वालों और सांस के मरिजों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। इसलिए घर से बाहर जाते समय मास्क जरूर पहन कर जाए। बरिश के बाद ही प्रदूषण के स्तर में कमी आएगी।

Todays Beets: