Saturday, December 16, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

लड़कियों से ज्यादा लड़कों की हो रही 'कच्ची उम्र' में शादी, सर्वे में हुआ खुलासा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
लड़कियों से ज्यादा लड़कों की हो रही

नई दिल्ली । कुछ समय पहले तक देश में कच्ची उम्र में लड़कियों की शादी एक बड़ा मुद्दा हुआ करता था, लेकिन हाल में हुए एक सर्वे में सामने आया है कि जहां एक ओर लड़कियों की कम उम्र में शादी के मामले में सुधार आया है वहीं अब देश में लड़कों की शादी कानून के अनुसार तय आयु से कम उम्र में हो रही है। यह हालात देश के किसी एक क्षेत्र का नहीं बल्कि कई राज्यों में हैं। जहां एक ओर देश में आज भी 20 फीसदी लड़कों का विवाह कानूनी उम्र से पहले हो रहा है, वहीं लड़कियों का कच्ची उम्र में शादी का प्रतिशत मात्र 26.8 रह गया है। यह आंकड़े नेशनल फैमिली हैल्थ सर्वे में सामने आए हैं। 

बता दें कि एक समय था जब देश में लड़कियों की कच्ची उम्र में शादियां होती थी। भारत के विकास के साथ-साथ और नारी सशक्तिकरण के इस दौर में इस आंकड़े में तो कमी आई है लेकिन हाल में एक तथ्य सामने आया है कि लड़कों की कच्ची उम्र में शादी के मामले में थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। हेल्थ सर्वे के मुताबिक, यूपी में तो लड़कियों से ज्यादा प्रतिशत में लड़के ऐसे हैं, जिनका विवाह कम उम्र में हो रहा है। आंकड़ों के मुताबिक यूपी में जहां कच्ची उम्र यानी 18 साल से पहले लड़कियों की शादी का प्रतिशत 21 फीसदी है, वहीं सूबे में 28.8 फीसदी ऐसे लड़के हैं जिनका विवाह 21 साल की कानूनी उम्र सीमा से पहले हो रहा है। 

कुछ ऐसा ही हाल बिहार का भी है। यहां भी लड़कियों से ज्यादा संख्या में लड़कों का विवाह कानूनी उम्रसीमा से पहले हो रहा है। बिहार में जहां 40 फीसदी लड़कों का विवाह 21 साल की उम्र से पहले हो रहा है, वहीं 39 फीसदी लड़कियों की बिहार में कच्ची उम्र में शादी हो रही है। 

बात हरियाणा की करें तो यहां के हालात भी यूपी-बिहार की तरह ही हैं, जहां लड़कियों से ज्यादा लड़कों का प्रतिशत है, जिनकी शादी कानूनी उम्र से पहले शादी हो जाती है। हरियाणा में 21 साल से पहले 31 फीसदी लड़कों की शादी हो जाती है, जबकि मात्र 18 फीसदी लड़कियां ही ऐसी है जिनकी शादी कच्ची उम्र में होती है।


मध्य प्रदेश के हालात भी कुछ ऐसे ही हैं, यहां 39.5 लड़कों की तो 30 फीसदी लड़कियों की शादी तय उम्र से पहले हो जाती है।

अगर बात राजस्थान की करें तो यहां दोनों का प्रतिशत बराबरी पर है। हालांकि .7 फीसदी लड़कों की शादियां लड़कियों की तुलना में पहले हो रही है। राजस्थान में जहां 35 फीसदी लड़कियों की कच्ची उम्र में शादी हो रही है, वहीं 35.7 फीसदी युवकों की शादी 21 साल से पहले हो रही है। 

उत्तराखंड भी इससे अछूता नहीं है। देवभूमि में जहां 21 फीसदी लड़कियां की शादी 18 साल से पहले हो रही है, वहीं 21 प्रतिशत लड़कों का विवाह 21 साल से पहले हो रहा है।  

Todays Beets: