Wednesday, April 24, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

CBI बनाम ममता - चीफ जस्टिस बोले- सीबीआई सबूत पेश करे, अगर ममता सरकार ने सबूत नष्ट किए तो भारी खामियाजा भुगतना होगा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
CBI बनाम ममता - चीफ जस्टिस बोले- सीबीआई सबूत पेश करे, अगर ममता सरकार ने सबूत नष्ट किए तो भारी खामियाजा भुगतना होगा

नई दिल्ली । पश्चिम बंगाल के बहुचर्चित चिटफंड घोटाले की जांच को लेकर पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची सीबीआई की अर्जी पर मंगलवार को सुनवाई होगी। सीबीआई ने सोमवार को इस मामले में कोर्ट में कहा कि उन्होंने चिटफंड मामले की जांच से संबंधित मामले में कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को 4 बार समन भेजा था । सीबीआई अधिकारी पूछताछ के लिए पहुंचे तो उन्हें ही गिरफ्तार कर लिया गया। इस दौरान सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस ने इस मामले की डिटेल सुनवाई को मंगलवार के लिए तय किया। इस पर सीबीआई की ओर से एडिश्नल सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने ऐतराज जताते हुए कहा कि इससे तो पश्चिम बंगाल सरकार को इस मा्मले के सबूत मिटाने के लिए और 24 घंटे मिल जाएंगे। इस पर चीफ जस्टिस ने कहा कि अगर पश्चिम बंगाल सरकार ऐसा कुछ करती है तो उसे भारी खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

सुप्रीम कोर्ट ने इस दौरान सीबीआई से कहा कि आप इस मामले में पहले सबूत तो पेश कीजिए कि कोलकाता पुलिस के अफसर कौन से दस्तावेज नष्ट कर रहे हैं। बता दें कि सोमवार को सीबीआई ने पश्चिम बंगाल सरकार के खिलाप दो याचिकाएं दाखिल की। एक याचिका कोर्ट की अवमानना से जुड़ी थी , जबकि दूसरी याचिका में उन्होंने निर्देश देने के लिए दायर की थी। बहरहाल, कोर्ट ने अब सीबीआई से अपनी बातों के पक्ष में सबूत पेश करने को कहा है। 


इससे इतर कोलकाता के पुलिस कमिश्नर के खिलाफ हो रही सीबीआई की कार्रवाई के विरोध में पश्चिम बंगाल सरकार की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी धरने पर बैठ गए हैं। उनका कहना है कि जब तक केंद्र में मोदी सरकार बनी रहेगाी तब तक वह धरने पर बैठी रहेंगी। ममता का कहना है कि वह देश और संविधान बचाने के लिए सत्याग्रह जारी रखेंगी। 

वहीं भाजपा का कहना है कि चिटफंड मामले में आखिर ममता बनर्जी सरकार ने सीबीआई को सबूत क्यों नहीं दिए हैं। उन्होंने सीबीआई को कोलकाता में जांच से क्यों रोका । 

Todays Beets: