Thursday, November 23, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

लॉकरों की सुरक्षा की जिम्मेदारी बैंक पर डाली, लेकिन चोरी सामान की भरपाई के लिए विशेष परिपत्र नहीं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
लॉकरों की सुरक्षा की जिम्मेदारी बैंक पर डाली, लेकिन चोरी सामान की भरपाई के लिए विशेष परिपत्र नहीं

नई दिल्ली । बैंक के लॉकर में रखे आपके कीमती सामान को लेकर वित्तमंत्री के बयान के बावजूद स्थिति साफ नहीं हो सकी है। पिछले दिनों लॉकरों की सुरक्षा को लेकर अपनी जिम्मेदारियों से हाथ खड़े कर चुके आरबीआई समेत कई बैंकों के लिए यूं तो वित्तमंत्री ने एक निर्देश जारी किया है, जिसमें उन्होंने बैंक से ग्राहकों के लॉकरों की सुरक्षा तय करने और किसी भी प्रकार की लापरवही न बरतने की बात कही है। लेकिन वित्त मंत्री की ओर से यह भी कहा गया है कि वित्तीय सेवा विभाग द्वारा ग्राहकों के बैंक लॉकरों से सामाग्री की चोरी की भरपाई के लिए कोई विशेष परिपत्र जारी नहीं किया गया है। यह स्थिति तब है, जब भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) को मई महीने में ग्राहकों को लॉकर सेवा प्रदान करने के मामले में बैंकों के खिलाफ कई शिकायतें मिली हैं।

ये भी पढ़ें- बैंक अब हर शनिवार को भी रहेंगे बंद! ग्राहकों के लिए सुबह आधा घंटे पहले खुलेंगे

जेटली बोले-बैंक लॉकर की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार

असल में राज्यसभा में बैंक के लॉकरों में रखे सामान को लेकर बैंक की जिम्मेदारी संबंधी एक सवाल का वित्त मंत्री ने लिखित जवाब दिया है। वित्त मंत्री ने इस लिखित जवाब में कहा- सभी बैंकों को आरबीआई ने सलाह दी है कि वे लॉकरों की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार होंगे और लॉकर की सुरक्षा करने के मामले में बैंकों द्वारा कोई लापरवही नहीं बरती जानी चाहिए। बैंकों को ऐसी स्थिति से बचना होगा, जिसमें लॉकर धारक की ओर से बैंकों पर दावा करने की कोई नौबत आए। हालांकि इस दौरान जेटली ने वित्तिय सेवा विभाग द्वारा लॉकर धारकों से उनकी सामाग्री चोरी होने के संबंध में कोई विशेष परिपत्र जारी नहीं करने की बात कही।


ये भी पढ़ें- नक्सलियों से निपटेगी सीआरपीएफ की युवा प्लाटून, नक्सली हमले के समय तुरंत करेगी कार्रवाई

आरबीआई ने पहले जिम्मेदारी से किया था इनकार

बता दें कि इससे पहले 1 जून को एक आरटीआई के जवाब में आरबीआई समेत 19 सरकारी बैंकों ने कहा था कि लॉकर में रखे सामान की चोरी होने या बर्बाद होने पर बैंक की किसी तरह की कोई जिम्मेदारी नहीं होगी। अब वित्तमंत्री और आरबीईआई के नए बयान के बाद बैंकरों ने इसे अपने लिए एक बड़ी चुनौती करार दिया है। संबंधित क्षेत्र के कुछ वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि आरबीआई और वित्तमंत्री के ये आदेश बैंकों के लिए बड़ी चुनौती के रूप में सामने आएंगे। उन्होंने कहा कि किसी बैंकर को नहीं बता होता कि उनका ग्राहक लॉकर में क्या रख रहा है। ऐसे में उसकी सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी बैंक पर डालने से मुश्किलें खड़ी होंगी। ग्राहक अपने लॉकर के संबंध में जो दावा करेगा, उसे चुनौती देने का हमारे पास कोई सिस्टम ही नहीं है। 

ये भी पढ़ें-  युद्ध की धमकियों के मद्देनजर रक्षा मंत्रालय ने केंद्र से मांगा 20 हजार करोड़ का अतिरिक्त बजट

Todays Beets: