Saturday, January 20, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

तेज रफ्तार ट्रेन को रोकते थे 2 रुपये के सिक्के से, बाद में बोगी में चढ़कर लूटपाट करने वाले दो बदमाश गिरफ्तार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
तेज रफ्तार ट्रेन को रोकते थे 2 रुपये के सिक्के से, बाद में बोगी में चढ़कर लूटपाट करने वाले दो बदमाश गिरफ्तार

नोएडा । रेलवे पुलिस ने सूरजपुर पुलिस के साथ एक संयुक्त अभियान चलाकर ट्रेनों में लूट करने वाले एक शातिर गिरोह के दो शातिर बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस पूछताछ में इन बदमाशों ने ट्रेन रोकने के लिए जिस अनूठे तरीके का जिक्र किया है उसे सुनकर रेलवे पुलिस भी हैरान है। दबोचे गए बदमाशों का कहना है कि लूट की वारदात को अंदाम देने के लिए ये बदमाश पटरी के बीच 2 रुपये का एक सिक्का डाल देते थे। इससे अर्थिंग के जरिए हरे सिग्नल को ये शातिर लाल करने में सफल हो जाते थे, जिसके चलते चालक लाल सिग्नल को देख ट्रेन रोक देते थे। इसके बाद ये ट्रेन में सवार होकर लूट की वारदात को अंजाम देते थे। 

सीसीटीवी फुटेज से मिला सबूत

जानकारी के अनुसार, दिल्ली-हावड़ा समेत मुरादाबाद रूट पर पिछले कुछ समय में ट्रेनों में लूटपाट की घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि हुई तो इसकी जांच के लिए टीम गठित की गई। सीओ प्रथम अमित किशोर श्रीवास्तव ने इस बाबत बताया कि लूट की वारदातों को अंजाम देने वालों के निशाने पर सबसे ज्यादा दादरी-अलीगढ़ रूट था। ऐसे में पुलिस ने इन रूट पर लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले। इस फुटेज की मदद से पुलिस ने एक शातिर बदमाश की पहचान की। 

एक ही गांव के शातिर बदमाश

इस बदमाश पर नजर रखने पर सामने आया कि इसके साथ आठ युवक हैं, जिनका पिछले कुछ समय का चाल-चलन बदल गया है। इनमें से तीन बदमाश गत दिनों रामपुर में दबोचे गए। इस सब के बावजूद गत सोमवार बदमाश तिलपता कंटेनर डिपो के समीप एकत्र हुए। इन बदमाशों ने दादरी-अलीगढ़ रूट पर ट्रेन में यात्रियों से लूट की साजिश रची थी। लेकिन वारदात को अंजाम देने से पहले ही इन बदमाशों से दो को दबोच लिया गया।पकड़े गए बदमाशों की पहचान बुलंदशहर के रहने वाले राजन व दिनेश के रूप में हुई है। जबकि दो भागने में कामयाब हो गए।

2 रुपये के सिक्के से रोकते थे ट्रेन


बदमाशों ने बताया कि लूट के लिए ट्रेन रोकने का काम वह एक 2 रुपये के सिक्के से करते थे। पुलिस के अनुसार, क्षेत्र से जो भी ट्रेन गुजरती तो थोड़ी देर के लिए पटरी के जोड़ के बीच थोड़ी सी जगह बन जाती है। इसमें रबड़ आ जाती है। मौका पाकर बदमाश पटरी के बीच में दो रुपये का सिक्का डाल देते थे। सिक्का डालते ही रबड़ भी बीच से हट जाती थी। इतना ही नहीं सिक्का डालने पर दोनों पटरियों को करंट का अर्थ नहीं मिलने पर सिग्नल ग्रीन के बजाय लाल हो जाता था। इसे देख ट्रेन का चालक ट्रेन को रोक देता था। 

ट्रेन रुकते ही लूट को देते थे अंजाम

ट्रेन रुकते ही बदमाश उसमें दाखिल हो जाते थे और सवारियों के साथ लूटपाट करते थे। गिरोह में कुल आठ सदस्य है, तीन बदमाशों को गत दिनों रामपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया था, अब दो को ग्रेटर नोएडा में पकड़ा गया है। बदमाशों के पास से तमंचा, दो रुपये का सिक्का बरामद किया गया है। पुलिस ने बताया कि सभी बदमाश एक ही गांव के रहने वाले हैं।

लूट का सामान बेचने में पकड़े गए थे तीन शातिर

इस गिरोह के हर सदस्य की अपनी भूमिका होती थी। जहां एक शातिर पटरी के बीच सिक्का लगाने का काम करता था तो कुछ लूट की वारदात को अंजाम देते थे। इतना ही नहीं कुछ बदमाश लूट के सामान को बेचने का काम करते थे। पिछले दिनों इस गिरोह के तीन बदमाश लोकेश, मोनू और राजू को बीते दिनों रामपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया था।

Todays Beets: