Monday, September 24, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

राफेल विमान के आने से वायुसेना होगी और मजबूत- वायुसेना प्रमुख

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राफेल विमान के आने से वायुसेना होगी और मजबूत- वायुसेना प्रमुख

नई दिल्ली। केन्द्र सरकार के द्वारा फ्रांस से खरीदे जाने वाले राफेल लड़ाकू विमान पर पूरा विपक्ष सरकार को घेरने की कोशिश कर रही है। इस बीच वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने सरकार के इस फैसले का समर्थन करते हुए कहा कि वायुसेना को मजबूती प्रदान करने के लिए इस विमान की काफी जरूरत है। वायुसेना प्रमुख ने बुधवार को एक कार्यक्रम में बोलते हुए कहा कि पड़ोसी मुल्कों से देश को खतरा बताते हुए कहा कि राफेल की खरीद को बिल्कुल सही है। यहां बता दें कि राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सरकार पर जमकर हमला बोला है।

गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष ने इस मसले पर सरकार को घेरते हुए उस पर झूठ बोलने तक का आरोप लगा चुके हैं। राहुल गांधी का कहना है कि राफेल लड़ाकू विमान सौदे की आड़ में रिलायंस कंपनी को फायदा पहुंचाने का भी आरोप लगाया है। कांग्रेस अध्यक्ष के इस आरोप के बाद रिलायंस ग्रुप के अनिल अंबानी ने उन्हें पत्र लिखकर पहले गलत जानकारी फैलाने का आरोप लगाया, इसके बाद कंपनी की ओर से कई कांग्रेसी प्रवक्तओं को कानूनी नोटिस भी भेजा गया था। 

ये भी पढ़ें - अमेरिका में होने वाले चुनाव में दखलअंदाजी करने वाले देश हो जाएं सावधान, लगेगा प्रतिबंध 


आपको बता दें कि बुधवार को राजधानी दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा, ‘‘आज दुनिया में बहुत कम ऐसे देश हैं जो हमारी तरह की दिक्कतों का सामना कर रहे हैं। हमारे दोनों तरफ परमाणु शक्ति वाले देश हैं।’’ वायुसेना प्रमुख ने कहा कि फ्रेंच राफेल लड़ाकू जेट और रूसी एस-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम खरीदने का सरकारी निर्णय वायुसेना को मजबूती प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि वायुसेना के लिए सिर्फ तेजस जैसे मध्यम तकनीक वाले जेट से काम नहीं चलेगा। सेना को राफेल जैसे उच्च तकनीक और क्षमताओं वाले विमानों से मुकाबला करने की क्षमता में भी बढ़ावा मिलेगा। 

 

यहां बता दें कि भारत को चीन और पाकिस्तान से अपनी सुरक्षा के लिए वायुसेना की करीब 42 स्क्वाड्रन की दरकार है जबकि मौजूदा समय में केवल 31 स्क्वाड्रन ही काम कर रही हैं। इसके मुताबिक हाल फिलहाल में ही भारत करीब 11 स्क्वाड्रन की कमी से जूझ रहा है। 

Todays Beets: