Wednesday, April 24, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

मुलायम सिंह के पूर्व 'हमराज- हमसाये' ने किया पीएम मोदी की तारीफ को लेकर खुलासा , बताया मोदी सरकार की सराहना का कारण

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मुलायम सिंह के पूर्व

नई दिल्ली । समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्य मुलायम सिंह यादव ने 16वीं लोकसभा के अंतिम सत्र के अंतिम दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार की जमकर सराहना करते हुए मोदी के दोबारा पीएम बनने की कामना की। सपा के पूर्व प्रमुख के इस रुख ने जहां मोदी के खिलाफ इकट्ठा हुआ विपक्षी दलों के महागठबंधन को बड़ा झटका दिया है। हालाकि मुलायम सिंह के इस बयान पर कभी उनके हमसाये और हमराज रहे अमर सिंह ने तंज कसा है। अमर सिंह ने कहा है कि मुलायम सिंह ने ऐसा बयान इसलिए दिया क्योंकिन यूपी के खनन मामले में जारी जांच की आंच उनतक न पहुंचे। इस मामले में आईपीएस चंद्रकला और रामा रमन के केस में उन्हें फायदा मिल सके। 

अमर सिंह ने न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए एक बयान में कहा कि मुलायम सिंह द्वारा लोकसभा में पीएम मोदी के दोबारा पीएम बनने की कामना करना महज खुद को बचाने के के लिए फेंकी गई एक गुगली है। उन्होंने यह बयान एक भ्रम पैदा करने के लिए दिया है। उन्होंने ऐसा इसलिए किया है क्योंकि चंद्रकला और रामा रमन के जो मामले चल रहे हैं जिन्होंने मुलायम सिंह यादव और मायावती के राज में भ्रष्टाचार किया था वह मामला दब सके। मोदी सरकार उनके खिलाफ कोई कार्रवाई न करे। 

इससे पहले मुलायम सिंह के करीबी रहे आजम खां ने भी मुलायम सिंह के बयान पर दुख जाहिर करते हुए कहा था कि उन्हें यह बयान सुनकर काफी दुख हुआ है। यह बयान उनका नहीं बल्कि उनके दिलवाया गया है। 


बता दें कि यूपी में रेत के अवैध खनन मामले में सीबीआई ने IAS अधिकारी बी. चंद्रकला के घर पर छापेमारी की थी। उनके साथ ही कई अन्य अफसरों के यहां भी छापे मारे गए। यह खनन यूपी में सपा की सरकार के कार्यकाल में हुआ था। उस दौरान अखिलेश यादव मुख्यमंत्री थे, इतना ही नहीं खनन मंत्रालय की जिम्मेदारी भी उन्हीं के पास थी।  इस मामले की आंच अखिलेश यादव तक भी पहुंच गई है। 

 

Todays Beets: