Thursday, October 18, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

अरुण जेटली ने केजरीवाल को माफ करने के रखी शर्त, कहा-सभी नेता को मांगनी पड़ेगी माफी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अरुण जेटली ने केजरीवाल को माफ करने के रखी शर्त, कहा-सभी नेता को मांगनी पड़ेगी माफी

नई दिल्ली। मानहानि के मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पंजाब के अकाली नेता विक्रम मजीठिया, भाजपा नेता नितिन गडकरी और कांग्रेस के नेता कपिल सिब्बल ने भले ही माफ कर दिया हो लेकिन भाजपा के नेता और देश के वित्त मंत्री अरुण जेटली उन्हें माफी देने से इंकार कर दिया है। बताया जा रहा है कि केजरीवाल ने पार्टी के राज्यसभा सांसद एनडी गुप्ता को अरुण जेटली का मान भांपने के लिए भेजा था, अरविंद केजरीवाल जानना चाहते थे कि अगर वे उनसे माफी मांग लेते हैं तो क्या जेटली मानहानि का मुकदमा वापस ले लेंगे!

आपको बता दें कि अरुण जेटली ने कहा है कि वे केजरीवाल की माफी उसी सूरत में स्वीकार करेंगे जब पार्टी के वे सभी नेता माफी मांगेगे जिनके खिलाफ उन्होंने मुकदमा किया है। गौर करने वाली बात है कि इसमें ‘आप’ के राज्यसभा सांसद संजय सिंह और दूसरे नेता आशुतोष भी शामिल हैं। ऐसे में देखना है कि कोर्ट कचहरी के चक्कर से बचने के लिए केजरीवाल अपनों को कैसे मनाते हैं।


ये भी पढ़ें -झारखंड-ओडिशा बाॅर्डर पर वायुसेना का हैलीकाॅप्टर दुर्घटनाग्रस्त, बाल-बाल बची पायलट की जान

गौरतलब है कि केजरीवाल और पार्टी के नेताओं ने अरुण जेटली पर डीडीसीए के अध्यक्ष रहते हुए भ्रष्टाचार करने के आरोप लगाए थे। जेटली ने जवाब में केजरीवाल और उनके 8 साथियों पर मानहानि के मुकदमे ठोक दिए वो भी एक आपराधिक और दूसरी सिविल। केजरीवाल के वकील रामजेठमलानी द्वारा जिरह के दौरान जेटली के लिए अपशब्द का प्रयोग करने के बाद इस पर एक और मामला अदालत में दायर कर दिया गया। 

Todays Beets: