Thursday, December 13, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

भय्यूजी महाराज का मिला सुसाइड नोट, लिखा- पारिवारिक विवाद से बहुत थक गया हूं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भय्यूजी महाराज का मिला सुसाइड नोट, लिखा- पारिवारिक विवाद से बहुत थक गया हूं

इंदौर । आध्यात्मिक संत भय्यूजी महाराज ने मंगलवार को अपनी पिस्तौल से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। इस दौरान पुलिस को उनका एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है। इसमें उन्होंने खुदकुशी करने का कारण तनाव बताया है। अपने सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा- मैं जा रहा हूं। साथ ही उन्होंने सुसाइड नोट में परिवार की जिम्मेदारी संभालने की अपील की है। अपने सुसाइड नोट में उन्होंने मौत के लिए किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया है। उन्होंने अपनी खुदकुशी का कारण पारिवारिक विवाद के चलते तनाव को बताया है। हालांकि पुलिस अभी भी मामले की छानबीन कर रही है।

बता दें कि इंदौर में मंगलवार को भय्यूजी महाराज ने खुद को गोली मार ली थी। उन्हें फौरन अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। खुदकुशी करने के लिए उन्होंने अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर का प्रयोग किया। पुलिस को घटनास्थल से उनका सुसाइड नोट मिला है, जिसमें उन्होंने साफ किया है कि उनके परिवार में विवाद था ।  इसी वजह से वे अवसादग्रस्त हो गए थे। 


विदित हो कि हाल में मध्य प्रदेश सरकार ने उन्हें राज्यमंत्री का दर्जा दिया था। 1968 को जन्मे भय्यू महाराज का असली नाम उदय सिंह देशमुख था। 

Todays Beets: