Sunday, February 18, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

निठारी कांड में सीबीआई की विशेष कोर्ट ने सुनाया फैसला, मोनिंदर सिंह पंधेर और सुरेन्द्र कोली को दोषी बताया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
निठारी कांड में सीबीआई की विशेष कोर्ट ने सुनाया फैसला, मोनिंदर सिंह पंधेर और सुरेन्द्र कोली को दोषी बताया

नई दिल्ली। नोएडा में हुए बहुचर्चित निठारी हत्याकांड के 9वें मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने गुरुवार को आरोपी मोनिंदर सिंह पंधेर और नौकर सुरेन्द्र कोली को दोषी करार दिया है। बता दें कि इससे पहले बुधवार को इन दोनों की सुनवाई की बहस पूरी हो गई थी जिसमें कोली ने सीबीआई की जांच पर उंगली उठाई थी। बता दें कि इन दोनों पर निठारी हत्याकांड के 16 मामले कोर्ट में दर्ज हैं जिनमें से 8 पर फैसला सुनाया जा चुका है। यह फैसला निठारी से 21 साल की युवती के गायब होने के मामले में सुनाई गई है। 

सीबीआई की जांच पर सवाल

गौरतलब है कि बुधवार को हुई सुनवाई में गाजियाबाद की डासना जेल में सजा काट रहा सुरेन्द्र कोली सीबीआई के विशेष न्यायाधीश पवन कुमार तिवारी की अदालत में पेश हुआ। यहां थोड़ी देर चली बहस में कोली ने सीबीआई की जांच पर सवाल उठाए जबकि सीबीआई के वकील ने इसका विरोध किया। इसके बाद बहस पूरी हो गई। 

ये भी पढ़ें - पंजाब में RSS नेता की हत्या में शामिल एक हथियार तस्तर दबोचा, जल्द आएगा हत्या का सच सामने


मोबाइल से मिला सुराग

आपको बता दें कि नोएडा के निठारी इलाके से साल 2005 में लगातार बच्चों के गायब होने के मामले सामने आने के बाद लोगों ने पुलिस में शिकायत की थी। इसके बाद पुलिस की कई टीमों ने वहां जाकर तफ्तीश की थी। 7 मई 2006 को 21 साल की एक और लड़की जब गायब हुई तो पुलिस को अहम सुराग उसके मोबाइल से मिला। पुलिस ने उस नंबर की कॉल डिटेल निकलवाई गई जिसके बाद मोनिंदर सिंह पंधेर का नाम सामने आया था इसके बाद पुलिस ने इस मामले में पंधेर और उसके नौकर कोली को आरोपी बनाया। बता दें कि पंधेर-कोली पर निठारी कांड में कुल 16 मुकदमे चल रहे हैं जिनमें से 8 मामलों में विशेष अदालत से फैसला सुनाया जा चुका है। यहां बता दें कि मोनिंदर पंधेर का नाम सामने आने के बाद पूरे निठारी मामले का खुलासा हुआ था, जिसमें 15 से ज्यादा बच्चियों और लड़कियों का रेप किया गया था और रेप के बाद उन्हें मारकर पंढेर के घर में दफन कर दिया गया था।

सुरेंद्र कोली को फांसी की सजा

निठारी कांड के 6 मामलों में कोर्ट सुरेंद्र कोली को दोषी मानते हुए फांसी की सजा सुना चुकी है। पिछले साल अक्टूबर में कोर्ट ने कोली को एक लड़की के मर्डर केस में किडनैपिंग, रेप और सबूत मिटाने का दोषी पाया था। इससे पहले के भी 5 मामले में सीबीआई कोर्ट ने कोली को दोषी करार देते हुए फांसी की सजा सुनाई थी। हालांकि 2015 में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एक मामले में उसकी फांसी की सजा को उम्र कैद में तब्दील कर दिया था। 

Todays Beets: