Sunday, October 21, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

फर्जी राशनकार्ड पर लगेगी लगाम, केन्द्र सरकार जारी करेगी विशिष्ट पहचान नंबर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फर्जी राशनकार्ड पर लगेगी लगाम, केन्द्र सरकार जारी करेगी विशिष्ट पहचान नंबर

नई दिल्ली। फर्जी राशनकार्ड के जरिए राशन की दुकानों से अनाज लेने वालों हो जाएं सावधान, अब केन्द्र सरकार ने देश की सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम) में बड़े बदलाव का संकेत दिया है। इसके तहत सरकार पुरानी व्यवस्था को बदलकर आम आदमी के लिए नई व्यवस्थाएं शुरू करने जा रही है। बता दें कि मोदी सरकार अब एक ऐसी व्यवस्था बनाने जा रही है, जिसके तहत पूरे देश में एक ही राशन कार्ड का इस्तेमाल होगा। आधार कार्ड की तरह राशन कार्ड के लिए एक विशिष्ट (यूनिक) पहचान नंबर जारी करने जा रही है। इस व्यवस्था के बाद फर्जी राशन कार्ड बनाने वालों पर लगाम लगेगी।

ये भी पढ़ें - मनीष सिसोदिया ने पेश किया दिल्ली का बजट, जानें क्या रहीं खास बातें 


गौरतलब है कि इस केन्द्रीय व्यवस्था के तहत एक ऑनलाइन एकीकृत (इंटेग्रेटेड) सिस्टम बनाया जाएगा। इस सिस्टम में राशन कार्ड का डेटा स्टोर होगा। इसका नाम ‘इंटीग्रेटेड मैनेजमेंट आॅफ पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम नेटवर्क’  (आईएमपीडीएसएन) होगा। इसके बाद अगर कोई व्यक्ति देश में कहीं भी फर्जी राशन कार्ड बनवाने की कोशिश करेगा तो वह पकड़ में आ जाएगा। इस सिस्टम का सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि लाभार्थी पूरे देश में कहीं भी किसी भी राशन की दुकान से सब्सिडी वाला अनाज ले सकेंगे। बता दें कि फिलहाल देश के सिर्फ चार राज्यों राजस्थान, हरियाणा, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में ही यह सुविधा है, जिसके तहत एक राज्य के लाभार्थी दूसरे राज्य के राशन की दुकान से अनाज खरीद सकते हैं। 

 

Todays Beets: