Monday, December 17, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

भारत के रूसी तकनीक हासिल करने पर चीन की बढ़ी चिंता, पाकिस्तान को देगा 48 आधुनिक सैन्य ड्रोन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भारत के रूसी तकनीक हासिल करने पर चीन की बढ़ी चिंता, पाकिस्तान को देगा 48 आधुनिक सैन्य ड्रोन

नई दिल्ली। रूस के साथ भारत के बड़े रक्षा सौदे से चीन और पाकिस्तान के माथे पर बल पड़ गए हैं। भारत की सुरक्षा प्रणाली के मजबूत स्थिति में आने से चिंतित चीन ने अपने दोस्त पाकिस्तान को 48 आधुनिक सैन्य ड्रोन बेचने का फैसला लिया है। चीन के द्वारा पाकिस्तान के साथ यह अब तक का सबसे बड़ा सौदा है। बता दें कि भारत और रूस के बीच हुए रक्षा सौदों को लेकर अमेरिका ने भारत को प्रतिबंध लगाने की धमकी दी है। इसके साथ ही ईरान से कच्चे तेल के आयात को लेकर भी अमेरिका ने भारत को हिदायत दी है। 

गौरतलब है कि भारत ने अमेरिका की धमकियों के बावजूद ईरान से तेल का आयात जारी रखने का फैसला लिया है। पाकिस्तान को दिए जाने वाले ड्रोन का निर्माण चेंगदू एयरक्राफ्ट इडस्ट्रियल कंपनी ने किया है। यह विमान आधुनिक तकनीक से लैस है, हमला करने के साथ निगरानी एवं अन्य कामों में भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।  


ये भी पढ़ें -कांग्रेस के गढ़ से पीएम मोदी किया चुनावी शंखनाद, रेल कोच रिपेयरिंग कारखाने का किया शिलान्यास  

यहां बता दें कि इस ड्रोन का निर्माण पाकिस्तान और चीन दोनांे मिलकर करेंगे। बता दें कि चीन पाकिस्तान को हथियारांे की आपूर्ति करने वाला सबसे बड़ा देश है। दोनों देश मिलकर थंडर एफ लड़ाकू विमान का उत्पादन करते हैं। गौर करने वाली बात है कि भारत ने हाल ही में रूस के साथ एस 400 सैन्य प्रणाली का सौदा किया है। इससे भारतीय वायुसेना की क्षमता में और ज्यादा इजाफा हो गया है।  

Todays Beets: