Tuesday, December 11, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

मनी लाउंड्रिंग मामले में कार्ति चिदंबरम को राहत, हाईकोर्ट ने 20 मार्च तक गिरफ्तारी पर लगाई रोक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मनी लाउंड्रिंग मामले में कार्ति चिदंबरम को राहत, हाईकोर्ट ने 20 मार्च तक गिरफ्तारी पर लगाई रोक

नई दिल्ली। आईएनएक्स मीडिया मनी लाउन्ड्रिंग मामले में फंसे पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को शुक्रवार को दिल्ली हाईकोर्ट से राहत मिल गई है। कोर्ट के आदेश के बाद अब उसे 20 मार्च तक गिरफ्तार नहीं किया जा सकता है। बता दें कि कार्ति चिदंबरम ने सुप्रीम कोर्ट में ईडी द्वारा की जा रही कार्रवाई पर रोक लगाने की याचिका दायर की थी, सुप्रीम कोर्ट द्वारा इसे खारिज करने के बाद कार्ति ने इसे हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। 

गौरतलब है कि कार्ति चिदंबरम इन दिनों आईएनएक्स मीडिया मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई की रिमांड पर हैं। इससे पहले उन्हें ईडी की कार्रवाई झेलनी पड़ रही थी। अब उनकी न्यायिक हिरासत खत्म होने के बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) उन्हें गिरफ्तार नहीं कर सकती। बता दें कि कार्ति की याचिका पर कोर्ट ने ईडी और केंद्र को नोटिस जारी किया है।

ये भी पढ़ें - भारत में नहीं लागू होगी ‘चीनी नीति’, सुप्रीम कोर्ट में दो बच्चे की नीति वाली याचिका खारिज


यहां गौर करने वाली बात है कि आईएनएक्स मीडिया मनी लाउंड्रिंग के मामले में ईडी ने इंद्राणी मुखर्जी और उनके पति पीटर मुखर्जी से भी पूछताछ की थी। ईडी की कार्रवाई के खिलाफ कार्ति द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका को खारिज करते हुए कोर्ट ने हाईकोर्ट से ही उपयुक्त बैंच का गठन कर सुनवाई करने के निर्देश दिए थे।  

 

Todays Beets: