Thursday, October 19, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

फीफा ने रद्द की पाकिस्तान फुटबाॅल फेडरेशन की मान्यता, किसी भी आयोजन में नहीं ले सकेगा हिस्सा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फीफा ने रद्द की पाकिस्तान फुटबाॅल फेडरेशन की मान्यता, किसी भी आयोजन में नहीं ले सकेगा हिस्सा

नई दिल्ली। पाकिस्तान के फुटबाॅल प्रेमियों के एक बड़ा झटका लगा है। इंटरनेशनल फेडरेशन आॅफ फुटबाॅल एसोसिएशन (फीफा) ने पाकिस्तान फुटबाॅल फेडरेशन (पीएफएफ) की मान्यता रद्द कर दी है। फीफा के इस आदेश के बाद पाकिस्तान तत्काल प्रभाव से फीफा के द्वारा कराए जाने वाले किसी भी मैच में हिस्सा नहीं ले पाएगा। पाकिस्तान की मान्यता रद्द करने के पीछे यह वजह बताई गई है कि उसका अकाउंट और प्रबंधन कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों द्वारा किया जाता है जो फीफा के साथ किए गए अनुबंध का उल्लंघन है। फीफा के अधिनियमों के अनुसार, पीएफएफ ने उन शर्तों को माना था कि उसका संचालन बिना किसी तीसरे पक्ष के प्रभाव के बिना स्वायत्त रूप से होगा। लेकिन कोर्ट द्वारा प्रशासकों की नियुक्ति करने से इन नियमों का पालन नहीं हुआ, जिस कारण फीफा ने पीएफएफ को सस्पेंड करने का फैसला लिया। फीफा की तरफ से पाकिस्तान को इसकी जानकारी दे दी गई है और फीफा की आधिकारिक वेबसाइट पर भी इसे डाल दिया गया है। फीफा की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि पीएफएफ के ऊपर से यह प्रतिबंध उस समय तक नहीं हटाया जाएगा, जब तक पीएफएफ ऑफिस और उसके अकाउंट्स का संचालन स्वतंत्र रूप से उसके पास वापस नहीं आ जाता है। 

ये भी पढ़ें - न्यूयॉर्क में जेटली बोले- भारत सरकार बोल्ड फैसले लेने और उन्हें लागू कराने में सक्षम


 

Todays Beets: