Friday, June 22, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

फीफा ने रद्द की पाकिस्तान फुटबाॅल फेडरेशन की मान्यता, किसी भी आयोजन में नहीं ले सकेगा हिस्सा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फीफा ने रद्द की पाकिस्तान फुटबाॅल फेडरेशन की मान्यता, किसी भी आयोजन में नहीं ले सकेगा हिस्सा

नई दिल्ली। पाकिस्तान के फुटबाॅल प्रेमियों के एक बड़ा झटका लगा है। इंटरनेशनल फेडरेशन आॅफ फुटबाॅल एसोसिएशन (फीफा) ने पाकिस्तान फुटबाॅल फेडरेशन (पीएफएफ) की मान्यता रद्द कर दी है। फीफा के इस आदेश के बाद पाकिस्तान तत्काल प्रभाव से फीफा के द्वारा कराए जाने वाले किसी भी मैच में हिस्सा नहीं ले पाएगा। पाकिस्तान की मान्यता रद्द करने के पीछे यह वजह बताई गई है कि उसका अकाउंट और प्रबंधन कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों द्वारा किया जाता है जो फीफा के साथ किए गए अनुबंध का उल्लंघन है। फीफा के अधिनियमों के अनुसार, पीएफएफ ने उन शर्तों को माना था कि उसका संचालन बिना किसी तीसरे पक्ष के प्रभाव के बिना स्वायत्त रूप से होगा। लेकिन कोर्ट द्वारा प्रशासकों की नियुक्ति करने से इन नियमों का पालन नहीं हुआ, जिस कारण फीफा ने पीएफएफ को सस्पेंड करने का फैसला लिया। फीफा की तरफ से पाकिस्तान को इसकी जानकारी दे दी गई है और फीफा की आधिकारिक वेबसाइट पर भी इसे डाल दिया गया है। फीफा की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि पीएफएफ के ऊपर से यह प्रतिबंध उस समय तक नहीं हटाया जाएगा, जब तक पीएफएफ ऑफिस और उसके अकाउंट्स का संचालन स्वतंत्र रूप से उसके पास वापस नहीं आ जाता है। 

ये भी पढ़ें - न्यूयॉर्क में जेटली बोले- भारत सरकार बोल्ड फैसले लेने और उन्हें लागू कराने में सक्षम


 

Todays Beets: