Wednesday, October 17, 2018

Breaking News

   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||   सुप्रीम कोर्ट ने कठुआ मामले में सीबीआई जांच की अर्जी को खारिज किया    ||   मध्यप्रदेश सरकार ने पांच नए सूचना आयुक्त चुने, राज्यपाल को भेजी सिफारिश     ||   बिहार: ASI संग शराब बेच रहा था थानेदार, अरेस्ट     ||

 माओवादियों के पास से मिली चिट्ठी ने बढ़ाई गृह मंत्रालय की चिंता, पीएम की सुरक्षा और कड़ी करने के निर्देश जारी  

अंग्वाल न्यूज डेस्क
 माओवादियों के पास से मिली चिट्ठी ने बढ़ाई गृह मंत्रालय की चिंता, पीएम की सुरक्षा और कड़ी करने के निर्देश जारी  

नई दिल्ली। माओवादियों द्वारा पीएम मोदी को जान से मारने की धमकी वाले पत्र ने गृहमंत्रालय की चिंता बढ़ा दी है। देर रात गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल, गृह सचिव राजीव गौबा और आईबी चीफ राजीव जैन के साथ बैठक की। राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा का जिम्मा एसपीजी की होती है लेकिन राज्य के दौरे पर इसकी जिम्मेदारी राज्य पुलिस की होती है। अब महाराष्ट्र के भीमा कोरेगांव में हुई सांप्रदायिक दंगों के बाद पकड़े गए माओवादियों के पास से मिले पत्र के बाद से पीएम की सुरक्षा और कड़ी करने के निर्देश दिए गए हैं।

गौरतलब है कि माओवादियों के पास से जो पत्र मिला था उसमें पूर्व प्रधानमंत्री  राजीव गांधी की हत्या की तर्ज पर ही पीएम नरेन्द्र मोदी की हत्या की साजिश रचे जाने का खुलासा हुआ था। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल और आईबी चीफ के साथ बैठक करने के बाद राजनाथ सिंह ने सभी राज्यों और संबंधित एजेंसियों को पीएम की सुरक्षा को लेकर जरूरी इंतजाम की नए सिरे से समीक्षा करने के निर्देश दिए हैं। यहां बता दें कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेदारी एसपीजी की होती है लेकिन राज्यों के दौरे के दौरान उस राज्य की पुलिस की जिम्मेदारी काफी बढ़ जाती है।


ये भी पढ़ें - पिछले 15 घंटों से एलजी हाउस में धरने पर बैठे केजरीवाल, कहा-मांगें पूरी होने तक यहीं बैठा रहुंगा

गौर करने वाली बात है कि माओवादियों के पास से मिले पत्र के बाद अब इस बात की समीक्षा की जा रही है कि क्या नक्सलियों में इतनी शक्ति है कि वे एसपीजी के सुरक्षा घेरे में रहने वाले पीएम को निशाना बना सकें। बता दें कि राजीव गांधी की हत्या के बाद एनएसजी के मैंडेट में कई नए क्लॉज जोड़े गए थे ताकि दोबारा ऐसी घटना ना हो सके।

Todays Beets: