Tuesday, August 14, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

 माओवादियों के पास से मिली चिट्ठी ने बढ़ाई गृह मंत्रालय की चिंता, पीएम की सुरक्षा और कड़ी करने के निर्देश जारी  

अंग्वाल न्यूज डेस्क
 माओवादियों के पास से मिली चिट्ठी ने बढ़ाई गृह मंत्रालय की चिंता, पीएम की सुरक्षा और कड़ी करने के निर्देश जारी  

नई दिल्ली। माओवादियों द्वारा पीएम मोदी को जान से मारने की धमकी वाले पत्र ने गृहमंत्रालय की चिंता बढ़ा दी है। देर रात गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल, गृह सचिव राजीव गौबा और आईबी चीफ राजीव जैन के साथ बैठक की। राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा का जिम्मा एसपीजी की होती है लेकिन राज्य के दौरे पर इसकी जिम्मेदारी राज्य पुलिस की होती है। अब महाराष्ट्र के भीमा कोरेगांव में हुई सांप्रदायिक दंगों के बाद पकड़े गए माओवादियों के पास से मिले पत्र के बाद से पीएम की सुरक्षा और कड़ी करने के निर्देश दिए गए हैं।

गौरतलब है कि माओवादियों के पास से जो पत्र मिला था उसमें पूर्व प्रधानमंत्री  राजीव गांधी की हत्या की तर्ज पर ही पीएम नरेन्द्र मोदी की हत्या की साजिश रचे जाने का खुलासा हुआ था। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल और आईबी चीफ के साथ बैठक करने के बाद राजनाथ सिंह ने सभी राज्यों और संबंधित एजेंसियों को पीएम की सुरक्षा को लेकर जरूरी इंतजाम की नए सिरे से समीक्षा करने के निर्देश दिए हैं। यहां बता दें कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेदारी एसपीजी की होती है लेकिन राज्यों के दौरे के दौरान उस राज्य की पुलिस की जिम्मेदारी काफी बढ़ जाती है।


ये भी पढ़ें - पिछले 15 घंटों से एलजी हाउस में धरने पर बैठे केजरीवाल, कहा-मांगें पूरी होने तक यहीं बैठा रहुंगा

गौर करने वाली बात है कि माओवादियों के पास से मिले पत्र के बाद अब इस बात की समीक्षा की जा रही है कि क्या नक्सलियों में इतनी शक्ति है कि वे एसपीजी के सुरक्षा घेरे में रहने वाले पीएम को निशाना बना सकें। बता दें कि राजीव गांधी की हत्या के बाद एनएसजी के मैंडेट में कई नए क्लॉज जोड़े गए थे ताकि दोबारा ऐसी घटना ना हो सके।

Todays Beets: