Friday, June 22, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

हनीप्रीत ने अपने लैपटॉप पर बनाया था पंचकुला हिंसा का ब्लू प्रिंट, 17 अगस्त को रची थी हिंसा की साजिश

अंग्वाल संवाददाता
हनीप्रीत ने अपने लैपटॉप पर बनाया था पंचकुला हिंसा का ब्लू प्रिंट, 17 अगस्त को रची थी हिंसा की साजिश

चंडीगढ़ । डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को पंचकुला कोर्ट द्वारा सजा सुनाए जाने की आशंका के मद्देनजर डेरा मुख्यालय में 17 अगस्त को एक अहम बैठक हुई थी, जिसमें राम रहीम को सजा होने के बाद उसकी गिरफ्तारी रोकने के लिए हिंसा का ब्लू प्रिंट बनाया गया था। यह सारी कवायात किसी ओर ने नहीं बल्कि राम रहीम की राजदार हनीप्रीत ने की। हनीप्रीत ने अपने एक लैपटॉप में इस हिंसा के ब्लू प्रिंट का डाटा रखा था, जिसकी तलाश में अब पुलिस जुट गई है। हनीप्रीत से पूछताछ और सुखदीप से मिली जानकारी के अनुसार, हनीप्रीत ने ही इस हिंसा की साजिश रची और लोगों को धन मुहैया करवाने का काम किया। इस जानकारी के बाद जांच एजेंसी उसके लैटपॉप और मोबाइल फोन की तलाश में जुट गई है। वहीं हनीप्रीत की एक डायरी को भी पुलिस खंगाल रही है, जिसमें राम रहीम के कालेधन के बारे में काफी जानकारी मौजूद है।

ये भी पढ़ें- आनंदी बेन ने सोनिया-प्रियंका से पूछा- कैसा लगा राहुल का 'संघ में महिलाओं को कच्छा पहने नहीं देखा' वाला बयान

लैपटॉप में मिलेगा हिंसा का ब्लू प्रिंट

पुलिस रिमांड के दौरान हनीप्रीत ने यूं तो ज्यादा सहयोग नहीं किया है लेकिन इस दौरान पुलिस को उससे की बातचीत और उसके साथियों से पूछताछ में पता चला है कि राम रहीम को सजा होने की आशंका के मद्देनजर 17 अगस्त को डेरा मुख्यालय में एक बैठक आयोजित कर पंचकुला में सजा होने की सूरत में हिंसा की साजिश रची गई थी। इस सबका ब्लू प्रिंट खुद हनीप्रीत ने अपने एक लैपटॉप में बनाया था। उसने ही हिंसा के लिए लोगों को जिम्मेदारी देने के साथ ही धन मुहैया कराने की हामी भरी थी। अब पुलिस इस लैपटॉप को खंगालने में जुट गई है, जिसके बारे में हनीप्रीत कोई जानकारी नहीं दे रही है। 

ये भी पढ़ें- अयोध्या में 'नव्य योजना' के ऐलान के साथ ही विरोध शुरू, विपक्षी बोले-चुनाव आते ही श्रीराम की फिर याद


मोबाइल बताएगा साजिश की कहानी

इतना ही नहीं पुलिस ने हनीप्रीत के मोबाइल को काफी अहम मानते हुए उसकी तलाश में जुटने के लिए और हनीप्रीत से आगे पूछताछ करने का तर्क देते हुए हुए उसे फिर से रिमांड पर मांगा है। पुलिस को आशंका है कि उसका मोबाइल पंजाब के तरनतारन या यूपी में किसी जगह छिपाया गया है, जिसके मिलने साजिश की कई कहानियां उजागर हो सकती है। अपनी 38 दिन की फरारी के दौरान हनीप्रीत ने 17 सिम का इस्तेमाल किया था, जिसमें से 3 अंतरराष्ट्रीय सिम थे। पुलिस उस फोन के जरिए सिम कार्ड और उसके बाद उन नंबरों से किए कॉल की डिटेल खंगाल कर काफी सच उजागर कर सकती है। 

ये भी पढ़ें- पंचकुला कोर्ट ने हनीप्रीत को फिर से 3 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा, जांच में नहीं कर रही सहयोग

राम रहीम से जेल में पूछताछ

इस बीच खबर है कि एसआईटी की एक टीम ने राम रहीम से जेल में जाकर पूछताछ की है। राम रहीम पर कुछ समर्थकों को नपुंसक बनाने का भी आरोप लगा है। इस संबंध में ही जांच दल ने रोहतक जेल में जाकर राम रहीम से इसके बारे में पूछताछ की। हालांकि पूछताछ में क्या बातें सामने आई हैं अभी इनके बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है। 

Todays Beets: