Monday, October 23, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

पाकिस्तान में स्कूली बच्चों को पढ़ाया जा रहा भारत के खिलाफ वाला 'जहरीला इतिहास'

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पाकिस्तान में स्कूली बच्चों को पढ़ाया जा रहा भारत के खिलाफ वाला

इस्लामाबाद।

पाकिस्तान अपने स्कूलों में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स के मन में भारत के खिलाफ जहर घोल रहा है। इसके लिए उसने स्कूली किताबों को अपना हथियार बनाया है। इन किताबों के जरिए पाकिस्तान में बच्चों को भारत—पाकिस्तान के बीच हुए बंटवारे के लिए हिंदुओं को जिम्मेदार बताया जा रहा है। यह गलत इतिहास खुले तौर पर पाक के सरकारी स्कूलों में पढ़ाया जा रहा है।

ये भी पढ़ें— सैनिकों को राखी बांधेगी यह मुस्लिम लड़की, रक्षाबंधन को लालचौक पर फहराएगी तिरंगा

जानकारी के अनुसार, पाकिस्तान में 10वीं कक्षा में स्कूलों में पढ़ाई जाने वाली किताब में भारत के प्रति जहर भरा पड़ा रहा है। पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में सरकार से मान्यता प्राप्त 10वीं क्लास की इतिहास की किताबों में लिखा है कि हिंदू ही 1947 के बंटवारे के लिए जिम्मेदार थे। इन किताबों फर्जी तथ्यों के जरिए पढ़ाया जा रहा है कि बंटवारे के समय हिंदुओं ने मुसलमानों को मौत के घाट उतारा। उनकी संपत्ति लूटी और उन्हें भारत से बाहर जाने के लिए मजबूर किया।

ये भी पढ़ें— चीनी मीडिया ने भारत को दी युद्ध की धमकी, कहा दो हफ्तों में हो सकता है दोनों देशों के बीच युद्ध, लार्ड मेघनाद देसाई ने कहा युद्ध हुआ, तो अमेरिका देगा भारत का साथ

बता दें कि 1947 में देश के विभाजन के समय हुई हिंसा में 20 लाख लोग मारे गए थे। उस समय हुई नरसंहार की घटनाओं ने भारत और पाकिस्तान के बीच शत्रुता और कड़वाहट के बीज बो दिए थे।

ये भी पढ़ें— परवेज मुशर्रफ ने पाकिस्तान में तानाशाही की हिमायत की, कहा सैन्य सरकारें पाक को ​लाईं पटरी पर, नागरिक सरकारों ने किया बेड़ा गर्क


इतिहास को गलत ढंग से किया पेश

पाकिस्तान में इन किताबों में इतिहास को तोड़—मरोड़कर पेश किया गया है। राजनैतिक विशेषज्ञों के अनुसार सीमापार पाकिस्तान में छात्रों को इतिहास को अपने पक्ष में तोड़-मरोड़कर पढ़ाया जा रहा है। इससे अरसे से कट्टर विरोधी रहे दोनों देशों के बीच सद्भावना पनपने की उम्मीद बहुत कम है। इतना ही नहीं इन किताबों में आजादी की लड़ाई में महात्मा गांधी के योगदान को नगण्य बताते हुए बंटवारे के लिए असली जिम्मेदार मुस्लिम लीग को एक हीरो के तौर पर दर्शाया गया है।

 

 

 

 

Todays Beets: