Saturday, April 21, 2018

Breaking News

   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||   बिहार: शराब और मुर्गे के साथ गश्त करने वाली पुलिस टीम निलंबित     ||   रेलवे की 90 हजार नौकरियों के आवेदन की आज लास्ट डेट, दो करोड़ 80 लाख कर चुके हैं अप्लाई     ||   कांग्रेस में बड़ा बदलाव: जनार्दन द्विवेदी की छुट्टी, गहलोत बने नए AICC महासचिव     ||   भारत ने चीन की तिब्बत सीमा पर भेजे और सैनिक, गश्त भी बढ़ाई     ||   अब कॉल सेंटर की नौकरियों पर नजर, अमेरिकी सांसद ने पेश किया बिल     ||   ब्लूमबर्ग मीडिया का दावा, 2019 छोड़िए 2029 तक पीएम रहेंगे नरेंद्र मोदी     ||   फेसबुक को डेटा लीक मामले से लगा तगड़ा झटका, 35 अरब डॉलर का नुकसान     ||

भारत की इस्लामिक देशों को हिदायत, कश्मीर मामले में किसी बाहरी को दखल देने का हक नहीं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भारत की इस्लामिक देशों को हिदायत, कश्मीर मामले में किसी बाहरी को दखल देने का हक नहीं

न्यूयॉर्क । अंतरराष्ट्रीय समुदाय में जम्मू-कश्मीर को लेकर अमूमन हल्ला करने वाले पाकिस्तान को यूएन में भारत ने मुंह तोड़ जवाब दिया है। असल में मुस्लिम देशों के संगठन 'ऑर्गनाइजेशन ऑफ द इस्लामिक कॉऑपरेशन' की तरफ से पाकिस्तान ने भारत पर जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकार के हनन और कश्मीरियों के आत्मनिर्णय के अधिकार को नकारने का आरोप लगाया था। इस पर भारत ने इन आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए साफ कर दिया कि OIC को भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप का कोई हक नहीं है।

UN में भारत की ओर से दिए गए जवाब में इंडियन परमानेंट मिशन के पहले सचिव डॉक्टर सुमित सेठ ने कहा, 'भारत को अफसोस है कि OIC ने अपने बयान में भारत के अभिन्न और अविभाज्य राज्य जम्मू-कश्मीर से जुड़े गलत और भ्रामक तथ्य शामिल किए हैं, अध्यक्ष जी, मैं इस मंच का इस्तेमाल भारत के जवाब देने के अधिकार के तहत कर रहा हूं। यह जवाब पाकिस्तान के उस बयान के बाद दिया जा रहा है, जो उसने OIC की तरफ से दिया था। भारत ऐसे बयान को पूरी तरह से खारिज करता है। OIC को भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने का कोई अधिकार नहीं है। हम OIC को सलाह देते हैं कि वह भविष्य में इस तरह की बयानबाजी से बचे।'


बता दें कि OIC 57 देशों का संगठन है जो दुनिया में मुस्लिमों की आवाज बनने के लिए इकट्ठे हुए हैं। OIC की तरफ से पाकिस्तान ने भारत पर जम्मू-कश्मीर राज्य में मानवाधिकार के हनन और कश्मीरियों के आत्मनिर्णय के अधिकार को नकारने का आरोप लगाया था।

Todays Beets: