Sunday, October 21, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

भारत की इस्लामिक देशों को हिदायत, कश्मीर मामले में किसी बाहरी को दखल देने का हक नहीं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भारत की इस्लामिक देशों को हिदायत, कश्मीर मामले में किसी बाहरी को दखल देने का हक नहीं

न्यूयॉर्क । अंतरराष्ट्रीय समुदाय में जम्मू-कश्मीर को लेकर अमूमन हल्ला करने वाले पाकिस्तान को यूएन में भारत ने मुंह तोड़ जवाब दिया है। असल में मुस्लिम देशों के संगठन 'ऑर्गनाइजेशन ऑफ द इस्लामिक कॉऑपरेशन' की तरफ से पाकिस्तान ने भारत पर जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकार के हनन और कश्मीरियों के आत्मनिर्णय के अधिकार को नकारने का आरोप लगाया था। इस पर भारत ने इन आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए साफ कर दिया कि OIC को भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप का कोई हक नहीं है।

UN में भारत की ओर से दिए गए जवाब में इंडियन परमानेंट मिशन के पहले सचिव डॉक्टर सुमित सेठ ने कहा, 'भारत को अफसोस है कि OIC ने अपने बयान में भारत के अभिन्न और अविभाज्य राज्य जम्मू-कश्मीर से जुड़े गलत और भ्रामक तथ्य शामिल किए हैं, अध्यक्ष जी, मैं इस मंच का इस्तेमाल भारत के जवाब देने के अधिकार के तहत कर रहा हूं। यह जवाब पाकिस्तान के उस बयान के बाद दिया जा रहा है, जो उसने OIC की तरफ से दिया था। भारत ऐसे बयान को पूरी तरह से खारिज करता है। OIC को भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने का कोई अधिकार नहीं है। हम OIC को सलाह देते हैं कि वह भविष्य में इस तरह की बयानबाजी से बचे।'


बता दें कि OIC 57 देशों का संगठन है जो दुनिया में मुस्लिमों की आवाज बनने के लिए इकट्ठे हुए हैं। OIC की तरफ से पाकिस्तान ने भारत पर जम्मू-कश्मीर राज्य में मानवाधिकार के हनन और कश्मीरियों के आत्मनिर्णय के अधिकार को नकारने का आरोप लगाया था।

Todays Beets: