Thursday, August 16, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

मराठा आंदोलन हुआ उग्र, पुणे और नासिक में कई वाहनों को किया आग के हवाले

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मराठा आंदोलन हुआ उग्र, पुणे और नासिक में कई वाहनों को किया आग के हवाले

मुंबई। महाराष्ट्र में गुरुवार को मराठा क्रांति दल द्वारा बुलाया गया महाराष्ट्र बंद अचानक हिंसक हो गया। प्रदर्शनकारियों ने पुणे और नासिक में कई गाड़ियों में आग लगा दी और दुकानों में भी तोड़फोड़ की है। दरअसल मराठा समूहों ने सरकारियों में आरक्षण देने की मांग को लेकर 9 अगस्त को महाराष्ट्र बंद का आह्वान किया है।  बंद के दौरान आंदलोन कर रहे आंदोलनकारी अचानक उग्र हो गए और आसपास की दुकानों में तोड़फोड़ शुरू कर दी।

गौरतलब है कि आंदोलनकारियों के बीच आपस मंे किसी बात को लेकर बहस  हो गई उसके बात आंदोलनकारी गाड़ियों में आग लगाने लगे और दुकानों में तोड़फोड़ शूरू कर दी। उपद्रवियों ने पुणे डीएम के आॅफिस में भी तोड़फोड़ करना शुरू कर दिया। हालात बेकाबू होते देख पुलिस को उपद्रवियों पर लाठीचार्ज करना पड़ा। प्रदर्शनकारियों ने लातूर, जालना, सोलापुर और बुलधाना जिले में कई जगहों पर ट्रैफिक रोक दिया। 

ये भी पढ़ें - एनआरसी के मुद्दे पर ओमन चांडी का भाजपा पर हमला, कहा- सरकार सिर्फ राजनीति कर रही है


यहां बता दें कि मराठा समूहों के संघ सकल मराठा समाज ने नवी मुंबई को छोड़कर पूरे महाराष्ट्र में गुरुवार को बंद बुलाया है। ताकि आरक्षण के लिए समुदाय की मांग पर दबाव बनाया जा सके। अधिकारियों ने हिंसा की आशंका को देखते हुए कुछ इलाकों में स्कूलों और कॉलेजों को बंद रखने के आदेश दिए गए हैं।  

 

Todays Beets: