Friday, December 15, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

तीन लाख वर्किंग युवाओं को 3 से 5 साल की ट्रेनिंग पर जापान भेजेगी मोदी सरकार- धर्मेंद्र प्रधान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
तीन लाख वर्किंग युवाओं को 3 से 5 साल की ट्रेनिंग पर जापान भेजेगी मोदी सरकार- धर्मेंद्र प्रधान

नई दिल्ली । अगर आप देश में किसी कंपनी में काम करते हैं, तो हो सकता है सरकार आपको 3-5 साल के लिए जापन में ट्रेनिंग के लिए भेज दे। ऐसे करीब तीन लाख युवाओं (जो पहले से काम कर रहे हैं) को यह मौका मिल सकता है। केंद्रीय कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने गुरुवार को इस बात का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि सरकार के कौशल विकास कार्यक्रम के तहत इन युवाओं को जापान भेजने की एक योजना बनाई है। ये युवा जापान के पारिस्थितिकी तंत्र में काम करेंगे और उन्हें रोजगार के अवसर भी मिलेंगे। जापानी आवश्यकताओं के हिसाब से पारदर्शी तरीके से इन युवाओं का चयन किया जाएगा। भारत के इन युवाओं को जापान भेजने और भारतीय तकनीकी इंटर्न के कौशल प्रशिक्षण की लागत का बोझ भी जापान ही वहन करेगा।

केंद्रीय मंत्री प्रधान ने कहा कि पिछले दिनों भारत और जापान के बीच तकनीकी इंटर्न प्रशिक्षण कार्यक्रम (टीआईटीपी) के लिए सहयोग के समझौते (एमओसी) पर दस्तखत को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंजूरी दे दी है। आगामी दिनों में वह अपनी तीन दिवसीय टोक्यो यात्रा के दौरान इस पर दस्तखत कर सकते हैं। बता दें कि केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान 16 अक्तूबर से तीन दिन के लिए टोक्यो जा रहे हैं। उन्होंने ट्वीट कर इसके जानकारी देते हुए लिखा कि TITP के तहत 3 लाख भारतीय तकनीकी इंटर्न को तीन से पांच साल के लिए प्रशिक्षण को जापान भेजने का महत्वाकांक्षी कार्यक्रम है।


उन्होंने कहा कि 3 से 5 साल के लिए 3 लाख युवाओं को जापान भेजने का कार्यक्रम तीन साल के दौरान चलेगा। इस पूरे कार्यक्रम को जापान अपनी वित्तिय सेवाए देगा।  इसके अलावा उन्हें वहां ठहरने की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी। करीब 50,000 लोगों को जापान में नौकरी भी मिल सकती है।

Todays Beets: